मुजफ्फरपुर, जासं। मोहब्बत की राह में बहुत कठिनाइयां आती हैं। प्रेमी युगल को यहां पग पग पर परीक्षा से गुजरना होता है, लेकिन यह हर किसी के बस की बात नहीं होती। मामला यदि शादी के बादवाले प्रेम का हो तो परेशानी का लेवल कुछ अधिक ही ऊंचा होता है। जाहिर है परीक्षा भी उतनी ही सख्त होती है। मुजफ्फरपुर के कंपाउंडर के साथ कुछ ऐसा ही हुआ। प्रेम की राह पर कुछ कदम बढ़ाते ही वह डगमगाने लगा और फंदे से लटकर उसने अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। 

ब्रह्मपुरा थाना क्षेत्र के संजय सिनेमा रोड में विनय कुमार मिश्रा (35) उर्फ बीनू मिश्रा ने पंखे में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। वे जूरन छपरा के निजी नर्सिंग होम में कंपाउंडर थे। सूचना पर पहुंची ब्रह्मपुरा थाने की पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेजा। बताया गया कि विनय सरैया कोल्हुआ के रहने वाले थे। पांच सालों से पत्नी व बच्चों के साथ उक्त मोहल्ले में किराये पर रहते थे। मंगलवार की सुबह विनय ने सभी को गांव भेज दिया। इसके बाद वह कमरे में अकेला था। इस दौरान उसने खुदकुशी कर ली। पड़ोसी से घटना की जानकारी मिलने के बाद पत्नी नेहा दोपहर में लौटी। कमरा अंदर से बंद था। स्थानीय लोगों की मदद से दरवाजा तोड़ा गया, जहां शव पंखे की कुंडी से दुपट्टा के सहारे लटका था। पुलिस ने प्रारंभिक जांच के बाद पारिवारिक विवाद में खुदकुशी की बात बताई है। पुलिस पूछताछ में पत्नी नेहा ने कहा कि विनय प्राय: एक लड़की से बातचीत करते थे। वह इसका विरोध करती थी। इसको लेकर कई माह से विवाद चल रहा था। नींद की दवा का सेवन करते थे। इसको लेकर निजी अस्पताल में इलाज कराया गया था। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत का कारण स्पष्ट होगा। वैसे पत्नी के बयान के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।