मुजफ्फरपुर‌, [अमरेन्द्र तिवारी]। जनता दल(यू) संगठन में जारी खींचतान को दूर करने के लिए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव कुमार उर्फ ललन सिंह ने प्रयास शुरू कर दिया है। इसी क्रम में मुजफ्फरपुर इकाई को दुरुस्त करने की कवायद चल रही है। राष्ट्रीय अध्यक्ष के सामने समता पार्टी स्थापना काल से लेकर चिंतन शिविर के माध्यम से पार्टी को एकजुट करने के लिए अभियान चला रहे नेताओं ने अपनी बात रखी। सबकी बातों को सुनकर संकेत दिया कि जिला इकाई की टीम में बदलाव किया जाएगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि किसी भी संगठन में दो तरह के कार्यकर्ता होते हैं। जिनकी पहचान करने की जरूरत है। एक जो समर्पित होते हैं । संगठन को आगे ले जाने के भाव से काम कर रहे होते हैं। दूसरे सत्ताधारी दल में चिपकने वाले होते हैं। वैसे चिपकू टाइप कार्यकर्ता से सावधान रहने की जरूरत है। वे कभी भी पार्टी संगठन में मुख्यधारा में रहकर काम नहीं कर सकते हैं।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कार्यकर्ता समर्पित भाव से काम करें तो बहुत बड़ा बदलाव हो सकता है। इसलिए जिले की टीम की संशोधित सूची जारी की जाएगी। कांटी विधानसभा के जदयू नेता सौरभ कुमार साहब ने बताया कि जो प्रकोष्ठ हैं वे निष्क्रिय हो गए हैं। जिला कमेटी में कई ऐसे सदस्य हैं जिनकी दल के प्रति कोई आस्था नहीं है। वे केवल गाड़ी में नेम प्लेट व झंडा लगाकर घूमने के लिए आए हैं। कहने के लिए 38 प्रकोष्ठ बनाए गए, लेकिन कोई प्रकोष्ठ कहीं पर भी सक्रिय नहीं है। सौरभ साहब ने सवाल किया कि जब बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ है तो फिर कलमजीवी प्रकोष्ठ की क्या जरूरत है ? उसी तरह व्यवसायी प्रकोष्ठ है तो फिर ट्रेडर प्रकोष्ठ की क्या जरूरत है? उन्होंने प्रकोष्ठ के औचित्य पर सवाल उठाए। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इन बातों को गंभीरता से लिया है। संगठन की मजबूती के लिए यहां के नेताओं ने भी कई टिप्स दिए। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि पिछले दिनों चुनाव में जिस तरह से मुजफ्फरपुर में प्रदर्शन रहे, यह चिंता का विषय है। इसलिए संगठन को मजबूत करने के लिए रणनीति बनाने की जरूरत है।जिला संगठन को व्यवस्थित करने के संकेत दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि बैठक में प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने ‌भी संगठन को‌ लेकर सुझाव व मार्गदर्शन दिए। जिला यूनिट के लिए समता पार्टी काल से जुड़े पुराने लोग के सहयोग से संशोधित कमेटी बनेगी। इसके साथ ही नए व पुराने सारे लोगों को जोड़कर संगठन को एक बार फिर धारदार बनाया जाएगा। मालूम हो कि पिछले दिनों जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा की बिहार यात्रा में संगठन के आधे लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। उसके बाद बाद से ही संगठन में बदलाव के संकेत मिल गए थे। उपेंद्र कुशवाहा ने महान समाजवादी नेता कमलेश्वरी सिन्हा और कमलू बाबू के आवास पर पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर उनसे फीडबैक लिया था। अब उसी दिशा में संगठन के मजबूत करने की कार्रवाई चल रही है। उसकी अगली कड़ी में राष्ट्रीय अध्यक्ष ने भी मुजफ्फरपुर का फीडबैक लिया है।

कांटी विधानसभा के नेता सौरव साहब ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह को मुजफ्फरपुर आने का न्योता दिया गया है। वे आने वाले दिनों में यहां आएंगे। कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे और संगठन के लिए अपना बहुमूल्य सुझाव देंगे। जिस पर अमल किया जाएगा। मिलने वालों में प्रमुख रूप से जनता दल यू के जिला अध्यक्ष मनोज कुमार किसान, पूर्व जिला अध्यक्ष चिंतन शिविर के संयोजक रंजीत साहनी, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के उत्तर बिहार अध्यक्ष मोहम्मद जमाल, सेवादल प्रकोष्ठ के अध्यक्ष पप्पू कुशवाहा ,गायघाट विधानसभा के नेता अशोक कुमार सिंह, ठाकुर हर किशोर सिंह रामाशंकर सिंह, जदयू के वरिष्ठ नेता नरेंद्र पटेल, अमरनाथ चंद्रवंशी, शैलेश कुमार शैलू, महानगर जदयू के पूर्व अध्यक्ष अमरीश सिन्हा, रामबाबू कुशवाहा आदि मुख्य रहे। 

Edited By: Ajit Kumar