मुजफ्फरपुर, जासं। जवाहरलाल रोड स्थित पीएनबी की शाखा से बीएसएनएल के सेवानिवृत्त कर्मी रामदेव राम के पेंशन खाता से साइबर फ्राड के माध्यम से उड़ाए गए 22.40 रुपये उन्हें वापस मिल सकते हैं। पुलिस ने साइबर फ्राड गिरोह से लगभग 85 लाख रुपये जब्त किया था। इसी में से उन्हें उनकी उड़ाई गई राशि मिल सकती है। मामले के आइओ नगर थाना के दरोगा ओमप्रकाश ने इस संबंध में कोर्ट में रिपोर्ट सौंपी है। इस पर सोमवार को सुनवाई होगी।

यह भी पढ़ें: मां लंच पर बेटी का इंतजार कर रही थी और वह 'एजी-ओजी' के साथ भाग गई, मुजफ्फरपुर का मामला 

यह है मामला

पिछले साल तीन जुलाई को बीएसएनएल के टेलीफोन मैकेनिक पद से सेवानिवृत्त कांटी थाना के शाहपुर निवासी रामदेव राम के साथ साइबर फ्राड की घटना घटी। नगर थाना के जवाहरलाल रोड स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा में उनके पेंशन खाता स 22.40 लाख उड़ा लिए गए थे। उनका पेंशन खाता से उनका मोबाइल नंबर जुड़ा था। 24 जून 2021 को उनके मोबाइल का नेटवर्क गायब हो गया। अगले दिन उन्होंने बीएसएनएल के काउंटर पर संतोष आनंद से इसकी शिकायत की। इस पर उसने सिम खराब होने की बात बताई।

यह भी पढ़ें: यात्रीगण कृपया ध्यान दें, आज रद रहेगी मुजफ्फरपुर-भागुलपुर इंटरसिटी, विलंब से चल रहीं नौ ट्रेनें

 नए सिम के लिए मांगने पर आधार कार्ड की फोटो कापी व अपना फोटो दे दिया। उसने नया सिम दे दिया और शाम छह बजे सिम चालू होने की बात कही। शाम चार बजे मोबाइल में नेटवर्क आ गया। इस तरह कई बार नेटवर्क गया और हर बार नया सिम दिया गया। जब वे दो जुलाई को पेंशन के रुपये की निकासी करने जवाहरलाल रोड स्थित पीएनबी की शाखा में पहुंचे तो पता चला कि उनके खाता से 29 जून को 20 लाख व 30 जून का 2.40 लाख रुपये की अवैध निकासी की जा चुकी है। पुलिस जांच में डुप्लीकेट सिम से बैंक खाता से रुपये उड़ाने वाले रैकेट का उद्भेदन हुआ था। सात आरोपितों को गिरफ्तार किया गया। उनके खाते में लगभग 85 लाख रुपये मिले थे।  

यह भी पढ़ें: क्या मंत्री मुकेश सहनी का भी चिराग पासवान जैसा ही हाल होने वाला है? चर्चाओं का बाजार गर्म

Edited By: Ajit Kumar