मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। लंगट सिंह महाविद्यालय में सभी कोर्स में नामांकन लेने वाले विद्यार्थियों को अनिवार्य रूप से छह महीने का कंप्यूटर लिट्रेसी कोर्स करना होगा। छह महीने के इस कोर्स में कंप्यूटर की सभी बेसिक जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। कोर्स के समापन पर विद्यार्थियों को प्रमाणपत्र भी दिया जाएगा। ये बातें मंगलवार को कालेज के बीसीए विभाग की ओर से संचालित कंप्यूटर लिट्रेसी प्रोग्राम के बैच के समापन पर प्रमाणपत्र वितरण के दौरान प्राचार्य डा.ओपी राय ने कही। कहा कि वर्तमान में सभी क्षेत्रों में रोजगार के समय कंप्यूटर की बेसिक जानकारी की मांग की की जाती है। सामान्य कोर्स के साथ विद्यार्थी इसे कर सकेंगे। मुख्य अतिथि प्रो.अमिता शर्मा ने वोकेशनल कोर्स के महत्व से विद्यार्थियों को अवगत कराया। कहा कि छात्र शिक्षकों के आपसी सहयोग से वोकेशनल पाठ्यक्रमों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित की जा सकती है। कार्यक्रम में नवोदय विद्यालय के प्राचार्य संचित कुमार के साथ ही कालेज के प्रो.राजीव कुमार, प्रो.गोपाल, डा.प्रगति आशना ने विद्यार्थियों को प्रोत्साहित किया। विभागाध्यक्ष प्रो.तरुण कुमार डे ने कहा कि यह पाठ्यक्रम वर्तमान में विद्यार्थियों के लिए अतिआवश्यक है। मौके पर प्रो.सुरेंद्र राय, डा.नवीन कुमार, डा.आनंद किरण, डा.सुनील मिश्रा, डा. राजेश कुमार, डा.सौरभ, डा.प्रीति आदि मौजूद थे। 

दूसरे दिन भी जारी रहा छात्रावास संविदा कर्मचारियों का धरना

जासं, मुजफ्फरपुर : बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में दूसरे दिन मंगलवार को भी महिला छात्रावास के संविदा कर्मचारियों का धरना जारी रहा। कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि दूसरे दिन विवि के प्रशासनिक भवन में धरना देने के क्रम में अधिकारियों की ओर से दुव्र्यवहार किया गया। गार्ड को बुलाकर वहां से जबरन हटा दिया गया जबकि शांतिपूर्ण धरना दे रहे थे। कर्मचारियों का कहना है कि पिछले सात महीने से उन्हें वेतन नहीं मिला है। इस कारण भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है। कहा कि अन्य छात्रावास के कर्मचारियों को वेतन मिल रहा जबकि, यहां के कर्मचारियों के साथ अधिकारी पक्षपात कर रहे हैं। वहां से निकाले जाने के बाद कर्मचारी विवि के धरना स्थल पर जम गए हैं। प्रियंका कुमारी, संगीता कुमारी, इंदू, अनिता, निभा, रेखा समेत अन्य कर्मचारियों ने कहा कि जबतक विवि के अधिकारी वेतन का भुगतान नहीं करते धरना जारी रहेगा।

 

Edited By: Ajit Kumar