मुजफ्फरपुर, जेएनएन। Muzaffarpur Water Logging : मंगलवार को शाम में हुई भारी बारिश से शहर एक बार फिर पानी में डूब गया और जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। बाजार से लेकर गली-मोहल्लों में डेढ़ से दो फीट पानी जमा हो गया। लोगों के घरों और दुकानों में बारिश का पानी प्रवेश कर गया। सदर अस्पताल में जलजमाव से मरीजों व कर्मियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मोतीझील, जवाहर लाल रोड, कल्याणी चौक, क्लब रोड, मिठनपुरा, चर्च रोड, पक्की सराय रोड, बनारस बैंक चौक रोड, आम गोला रोड, बटलर रोड, रघुवंश रोड समेत शहर की सभी प्रमुख सड़कें पूरी तरह से बारिश के पानी डूब गईं। जर्जर जवाहर लाल रोड व क्लब रोड में जलजमाव से राहगीर दुर्घटना के शिकार हुए। डेढ़ माह तक जलजमाव की पीड़ा झेलने वाले इलाके पंकज मार्केट रोड, गोला बांध रोड, रज्जू साह लेन, पीएनटी बैंकर्स रोड, जंगली माई स्थान रोड में फिर से पानी लग गया है। निचले इलाकों का सबसे बुरा हाल है। जिस नगर निगम पर शहर को जलजमाव से निजात दिलाने की जिम्मेदारी है वह स्वयं डूबा हुआ है। 

बार-बार जलजमाव से शहरवासी त्रस्त

बार-बार जलजमाव होने से शहरवासियों में भारी नाराजगी है। पीएनटी रोड निवासी बलराम प्रसाद कहते हैं कि नाला निर्माण पर लाखों-करोड़ों खर्च के बाद भी बारिश का पानी नहीं निकल पा रहा है। हर साल समस्या के स्थायी निदान की बात होती है, लेकिन बरसात खत्म होते ही सबकुछ भूल जाया जाता है। रमना निवासी संजय कुमार ङ्क्षसह ने कहा कि तीन महीने से नाला की सफाई हो रही है। इसके बाद भी शहर के नाले बारिश का पानी नहीं निकाल पा रहे हंै। गोला बांध रोड निवासी दिलीप कुमार का कहना है कि डेढ़ माह से जलजमाव के बीच रह रहे थे। दो दिन पूर्व पानी निकला था। लेकिन, बारिश ने एकबार फिर पीड़ा बढ़ा दी है।  

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस