मुजफ्फरपुर : साहेबगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गांव में मायके में रहने वाली विक्षिप्त महिला का शव घर से कुछ दूर खेत से बरामद किया गया। स्वजन उसके दाह संस्कार की तैयारी में थे कि डीएम के आदेश पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम में भेज दिया। बताया गया कि मृतका को तीन वर्ष की एक बेटी है। उसकी शादी पूर्वी चंपारण में हुई थी। वह मानसिक रूप से बीमार थी जिसका इलाज चल रहा था। इसलिए ससुराल वालों ने उसे मायके पहुंचा दिया था। वह पिछले कई वषरें से पिता के घर रहती थी। गाव में दुर्गापूजा का आयोजन हुआ था। वह बुधवार की रात्रि मेला देखने कहकर घर से निकली, लेकिन घर नहीं लौटी। चिंतित स्वजन सुबह उसे खोजने निकले। घर से कुछ ही दूर एक खेत में उसका शव पड़ा था। वहां लोगों के पांव के निशान थे। उसके कपड़े फटे मिले और उसके शरीर में मिट्टी लगी थी। इसे देख ग्रामीणों ने दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका जताई है। थानाध्यक्ष ने बताया कि अभी लिखित शिकायत नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

शादी का झांसा देकर दो साल तक किया यौन शोषण

औराई थाना क्षेत्र के एक गाव में शादी का झासा देकर दो साल तक यौन शोषण करने का मामला सामने आया है। शादी से इनकार करने पर युवती व उसके स्वजन थाने पर पहुंचे। मामले की शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपित युवक को गिरफ्तार कर लिया। युवक ने शादी का झासा देकर किशोरी से दो सालों तक शारीरिक संबंध बनाया। जब वह बालिग हो गई तो शादी का दबाव बनाने लगी। इसी दौरान पीड़िता के स्वजनों को इस बात की भनक लग गई। इस पर गाव में पंचायत हुई, शादी का दबाव बनाया गया। आरोपित ने पंचायत में ही शादी से इनकार कर दिया। धीरे-धीरे बात थाने तक पहुंच गई। मामले की शिकायत दर्ज कराई गई। थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने आरोपित युवक को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

Edited By: Jagran