मुजफ्फरपुर। मोस्टवांटेड शराब माफिया सरैया थाना क्षेत्र के मधौल निवासी लालबाबू सहनी को करजा थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वह कार से अपने साला पारू थाना के भिखनपुरा गांव लालबाबू सहनी के साथ शराब के धंधे के बकाया वसूली करने निकला था। दोनों के पास से दो लोडेड पिस्टल, चार कारतूस व कार की डिक्की से विदेशी शराब की 12 पाउच बरामद की गई। उसकी निशानदेही पर सरैया थाना के बखरा गांव के विपिन कुमार को गिरफ्तार किया गया। उसके पास से तीन बोतल शराब बरामद की गई है। करजा थानाध्यक्ष राजेश कुमार राकेश ने तीनों सहित 10 आरोपितों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की है।

वाहन जांच के दौरान पकड़ा गया लालबाबू : करजा थानाध्यक्ष के नेतृत्व में करजा चौक के निकट वाहन जांच के दौरान अपने साला के साथ कार से जा रहा लालबाबू पुलिस की पकड़ में आया। पूछताछ में उसने बताया कि शराब की खेप खपाने में धंधेबाजों से बड़ी बकाया राशि वसूलने निकला था। रास्ते में कोई लुटेरा गिरोह या किसी धंधेबाज गलत नीयत से बचने के लिए लोडेड पिस्टल लेकर चलता है।

गोपालगंज से लेकर मुजफ्फरपुर शहर तक फैला है नेटवर्क : एंटी लिकर टास्क फोर्स के प्रभारी व इंस्पेक्टर शुजाउद्दीन ने लालबाबू से पूछताछ की। उसने गोपालगंज से लेकर मुजफ्फरपुर शहर तक शराब के सिंडिकेट से वह जुड़ा हुआ है। उसने इस सिंडिकेट से जुड़े मिठनपुरा थाना क्षेत्र के कई धंधेबाजों की पहचान भी बताई है। अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सरैया राजेश कुमार शर्मा ने बताया कि गोपालगंज में भी उसके विरुद्ध मामला दर्ज है। वहां की पुलिस के लिए भी वह मोस्टवांटेड है। शराब के धंधे में उसके स्वजन के शामिल होने की बात सामने आ रही है। सभी की संपत्ति की जांच कराई जाएगी।

Edited By: Jagran