मुजफ्फरपुर, जासं। कोरोना की चौथी लहर का आगाज हो गया है। जिले में 128 मरीज मिले हैं। यह रफ्तार जारी है। इस बीच कोरोनारोधी उपाय को लेकर प्रशासन से लेकर आम आदमी तक जागरूक नहीं है। जिले में पहले डोज का लक्ष्य 4142277 तथा उपलब्धि 3200348 है। इसी तरह से दूसरे डोज का लक्ष्य 3181179 और उपलब्धि 2547944 है। बूस्टर डोज की बात करें तो लक्ष्य 183590 और उपलब्धि 30102 है। आंकड़े के हिसाब से जिले में अभी नौ लाख 41 हजार 9 सौ 29 लोग हाई रिस्क जोन में है। यह वैसे लोग हैं जिन्होंने अभी पहली डोज नहीं ली है। कुढऩी व कटरा प्रखंड की हालत यह है कि यहां पर अभी 60 प्रतिशत से नीचे टीकाकरण का ग्राफ है। दूसरी डोज नहीं लेने वालों की संख्या 6 लाख 33 हजार दो सौ 35 है। बूस्टर डोज की बात करें तो एक लाख 53 हजार 4 सौ 88 लोगों अभी वंचित हैं। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा.एके पांडेय ने बताया कि हर स्तर पर अभियान चलाकर शत प्रतिशत टीकाकरण की पहल चल रही है। गुरूवार को महाभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि आम लोगों को भी इस दिशा में सजग रहना चाहिए। जिले में टीकाकरण की कमी नहीं है।

यह मिली लापरवाही

  • शारीरिक दूरी नियम का नहीं हो रहा पालन, बिना मास्क घूम रहे लोग।
  • कोरोना संक्रमित पर निगरानी की नहीं सख्ती, पहचान होने के बाद वह खुद सदर अस्पताल से चलकर जा रहे अपने घर।
  • कंट्रोल रूम के पास इस जानकारी का रहता अभाव कि कोरोना संकमित की क्या हालत है।

24 कोरोना संक्रमित मिले, एएनएम स्कूल की 14 छात्राएं शामिल

मुजफ्फरपुर। कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ रही है। एक माह मेें पहली बार सबसे ज्यादा 24 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। इसके साथ ही संख्या बढ़कर 128 हो गई है। जिस कोरोना संक्रमित की पहचान हुई उसमें से 14 एएनएम स्कूल की छात्राएं है। सभी को आइसोलेशन पर रखते हुए जरूरी दवा दी गई है। कोरोना जांच के नोडल पदाधिकारी डा. उपेन्द्र चौधरी ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर एक तथा सदर अस्पताल में जांच में 23 संक्रमित मिले। उन्होंने कहा कि जो संक्रमित मिली उसको होम आइसोलेशन पर रहने का सुझाव दिया गया है। एएनएम स्कूल के प्राचार्य प्रमोद शर्मा ने बताया कि स्कूल में 135 छात्राएं हैं। इसमें से पहले वर्ष की 73 छात्राओं की जांच कराई गई। इसमें से 14 संक्रमित मिली। दूसरे वर्ष की 62 छात्राओं की जांच की गई। इसमें से एक भी संक्रमित नहीं मिले।

Edited By: Ajit Kumar