मुजफ्फरपुर, जेएनएन। प्रमंडलीय आयुक्त पंकज कुमार ने मंगलवार की शाम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रमंडल के सभी जिलों के डीएम के साथ बाढ़ पूर्व तैयारी, कोविड- 19, एईएस व चमकी बुखार को लेकर जिले में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा कर कई निर्देश दिए। प्रमंडलीय आयुक्त ने जिलाधिकारियों को बाढ़ पूर्व तैयारियों से संबंधित मुकम्मल व्यवस्था निर्धारित अवधि के पूर्व पूर्ण करने का निर्देश दिया।

 सभी जिलों से ऊंचे शरण स्थलों का चयन, आवश्यक वस्तुओं का दर निर्धारण ,वर्षा मापक यंत्रों की अद्यतन स्थिति, नावों की मरम्मत ,तटबंधों की सुरक्षा, बाढ़ पूर्व सड़कों का मजबूतीकरण, दवा की व्यवस्था, मोबाइल मेडिकल टीम ,पशु आहार का भंडारण आदि के बारे में भी जानकारी ली।

 आयुक्त ने कहा कि बाढ़ की स्थिति में पशु शरण स्थली को चिह्नित करने एवं पशु चारा की वैकल्पिक व्यवस्था हेतु आपूर्तिकर्ता एवं दर का पूर्व निर्धारण भी सुनिश्चित किया जाए। इसके अलावा कोरोना संक्रमण से संबंधित सभी जिलों में किए जा रहे कार्यों से प्रमंडलीय आयुक्त अवगत हुए । उन्होंने प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार सृजन की दिशा में किए जा रहे कार्यो को और गति देने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कल्याणकारी योजनाओं के साथ कोविड मैनेजमेंट पर भी कार्य करें।

 वहीं चमकी बुखार की समीक्षा के क्रम में मुजफ्फरपुर सहित विभिन्न जिलों में किए जा रहे कार्यों की उन्होंने सराहना की। साथ ही पीएचसी स्तर पर चिकित्सा सम्बन्धी की गई मुकम्मल व्यवस्था का अनुश्रवण सभी डीएम द्वारा सुनिश्चित करने को कहा। इस पर सिविल सर्जन मुजफ्फरपुर और अधीक्षक एसकेएमसीएच के द्वारा बताया गया कि एईएस के इलाज से संबंधित आवश्यक दवाइयां एवं उपकरणों की माकूल व्यवस्था की गई है। आयुक्त ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि अपने-अपने जिलों में पंचायत, गांव और वार्ड स्तर तक आशा, आंगनवाड़ी सेविका और जीविका के माध्यम से डोर टू डोर जागरूकता कार्यक्रम को तेज गति से कराएं। बैठक में मुजफ्फरपुर, वैशाली, सीतामढ़ी ,शिवहर ,पूर्वी चंपारण एवं पश्चिमी चंपारण के जिलाधिकारी जुड़े थे ।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस