मुजफ्फरपुर (जेएनएन)। सफलता के पीछे तो सभी भागते, मगर हर किसी को यह नसीब नहीं होती। बिरले ऐसे होते, जिनके पीछे सफलता भागती। बिहार के समस्तीपुर जिला निवासी 42 वर्षीय संगीता मिश्रा ऐसी ही शख्स हैं। कुछ अलग करने की लगन और इनकी हिम्मत के सामने हार जाती हर बाधा। ये ऐसा बाइक स्टंट करतीं कि लोग दातों तले अंगुली दबा लेते। तभी तो, लिम्का बुक ऑफ रिकॉ‌र्ड्स में उनका नाम दर्ज है। राष्ट्रीय स्तर पर पहली बाइक स्टंट राइडर महिला होने का गौरव भी। सीआरपीएफ में हवलदार पद पर बेंगलुरु में कार्यरत संगीता के नाम सम्मान व रिकॉर्ड की लंबी फेहरिस्त है।

समस्तीपुर के शाहपुर पटोरी प्रखंड के बहादुरपुर गाव निवासी स्व.नागेश्वर मिश्रा एवं बेबी देवी की जाबाज बेटी संगीता के पिता का निधन उनके जन्म के एक माह पहले ही हो गया था। गृहिणी मा ने उन्हें व दो अन्य बेटियों को खेती के जरिए संघर्ष से पाला। संगीता में बचपन से ही कुछ अलग करने का जज्बा था। शौक के चलते कम उम्र में ही बाइक चलाना सीख लिया। वर्ष 1995 में इंटर पास करने के साथ ही सीआरपीएफ में चयन हो गया। बाद में कुछ महिला बलों का चयन बाइक राइडिंग प्रतियोगिता के लिए किया गया, जिसमें संगीता भी शामिल थीं। इस दौरान उन्हें बाइक पर स्टंट करने की ट्रेनिंग दी गई। दिन-रात मेहनत के बाद उन्होंने इसमें महारत हासिल कर ली।

सीआरपीएफ के डायमंड जुबली कार्यक्रम के लिए भी उनका चयन हुआ। दो नवंबर 2014 को नई दिल्ली में राजपथ पर आयोजित इस समारोह में उन्होंने 30 किमी प्रति घटे की रफ्तार से चल रही बुलेट पर लगी छह फीट ऊंची सीढ़ी पर चढ़ने का दिल थाम लेने वाला स्टंट किया। ऐसा करने वाली वह भारत की पहली महिला बनीं। लिम्का बुक ऑफ रिकॉ‌र्ड्स के एडीटर ने नेशनल रिकॉर्ड बनाने की घोषणा की। बीते वर्ष केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की पत्‍‌नी व सीआरपीएफ के डीजीपी की पत्‍‌नी ने एक समारोह में उन्हें लिम्का बुक ऑफ नेशनल रिकॉर्ड का प्रमाणपत्र दिया। संगीता को आठ मार्च, 2018 को नई दिल्ली में वुमंस अचीवर्स अवॉर्ड व दिसंबर 2016 में यूनाइटेड नेशस की ओर से द यूनाइटेड नेशन मेडल मिल चुका है। मार्च 2014 में एनबीटी हीरो अवॉर्ड के अलावा सीआरपीएफ ने कई बार विशिष्ट सम्मान से भी नवाजा है। संगीता कहती हैं कि मा ने मेरे हौसले को बढ़ाया। संगीता के पति राजेश कुमार बीएसएफ में हवलदार के पद पर श्रीनगर में कार्यरत हैं। समस्तीपुर के जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह को संगीता पर नाज है। इनकी मानें तो वह देशसेवा के साथ हैरतअंगेज कारनामे से देश-दुनिया में जिले का नाम रोशन कर रही हैं।

Posted By: Jagran