मुजफ्फरपुर,[अमरेन्द्र तिवारी]। बिहार में लोजपा को लेकर जारी विवाद के बीच एक बड़ी खबर सामने आई है। लोजपा (पारस गुट) संसदीय बोर्ड की अध्यक्ष व वैशाली की सांसद वीणा देवी ने कहा कि बिहार में दो सीटों पर उपचुनाव होने हैं। इस उपचुनाव में दोनों सीटें जदयू की हैं।‌ इस स्थिति में लोजपा जदयू के साथ खड़ा रहेगी। हालांकि इसके बाद विवाद और बढ़ने की आशंका है। क्योंकि इससे पहले चिराग पासवान ने इन क्षेत्रों से अपने प्रत्याशियों को मैदान उतारने की घोषणा कर रखी है। माना जा रहा है इसी समय यह भी साफ हो जाएगा कि लोजपा के चुनाव यानी बंगला पर किसका अधिकार रहेगा। अब सबकी नजर चुनाव आयोग पर है। 

सांसद वीणा देवी ने कहा कि उनकी पार्टी एनडीए का अंग है। एनडीए गठबंधन का जो फैसला है, वह ‌मान्य होगा । कहा कि कुशेश्वरस्थान व तारापुर विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव है। दोनों सीटें पहले से ही जदयू की हैं। इस लिहाज से वहां पर जदयू के प्रत्याशी की मदद की जाएगी।‌ ‌उनके दल का कोई भी प्रत्याशी चुनाव नहीं लड़ने वाला। जदयू की सीट है तो उसमें लोजपा कहां से आ गई? ऐसा कभी नहीं होगा। सांसद चिराग पासवान की ओर से की गई घोषणा पर प्रतिक्रिया देते हुए सांसद बोलीं, वे क्या कर रहे हैं, उनकी मर्जी। बंगला चुनाव चिह्न के बारे में कहा कि चुनाव आयोग में मजबूती से दावा‌ पेश किया गया है। आने वाले दिनों में चुनाव होगा और बंगला छाप पर लोजपा पारस का ही अधिकार होगा। फिलहाल बिहार में एनडीए गठबंधन के सहयोगियों के साथ हमारी पार्टी भी है। पूरे देश के संगठन के अधिकारी हैं। सभी का समागम हो चुका है। पूरी एकजुटता के साथ काम कर हो रहा है ।‌

पिछले दिनों मुजफ्फरपुर के जिला अध्यक्ष रंजन कुमार दूसरी जगह चले गए थे, लेकिन अब सभी हमारे साथ हैं। लोजपा मुजफ्फरपुर एकजुट है। हर बूथ पर मजबूती के लिए अभियान चलाया जा रहा है ।

उन्होंने कहा कि बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में विकास हो रहा है, वहीं केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबके सुख दुख का ख्याल करते हुए गरीबों, वंचितों, महिलाओं व युवाओं के लिए लगातार कई योजनाओं पर काम कर रहे हैं। सांसद ने विपक्षी दल पर निशाना साधते हुए कहा कि विपक्षी के पास न कोई मुद्दा है ना कोई एजेंडा है ।‌ न विकास की बात है। इसलिए जनता सब समझ रही है। एक सवाल के जवाब में कहा कि तेजस्वी और चिराग दोनों एक सिक्के के दो पहलू हैं। बिहार की जनता उपचुनाव में दोनों को रिजेक्ट करेगी। बिहार में किसी भी पार्टी की कहीं पर कोई‌ दाल गलने वाला नहीं है। उपचुनाव की रणनीति के लिए एक-दो दिन के अंदर पार्टी सुप्रीमो पशुपति पारस के साथ बैठक होगी। उपचुनाव में एनडीए का जो फरमान होगा, उसके हिसाब से हमारे दल के सारे सांसद वरीय नेता दोनों जगह पर जाकर कैंप करेंगे। वहां पर पार्टी प्रत्याशी की जीत सुनिश्चित कराने के लिए हर स्तर पर पहल की जाएगी। 

Edited By: Ajit Kumar