मुजफ्फरपुर, जेएनएन। लॉकडाउन की घोषणा से ठीक पहले बीआरए बिहार विश्वविद्यालय की ओर से छात्रसंघ चुनाव को लेकर राजभवन को प्रस्ताव भेजा गया है। इसमें अगस्त में चुनाव कराने का सुझाव दिया गया है। दरअसल, विवि प्रशासन की ओर से मार्च के तीसरे सप्ताह में चुनाव कराने को लेकर पहल शुरू हुई थी, लेकिन छात्र संगठनों ने इसका विरोध किया। उनका कहना था कि चुनाव मार्च में होगा तो छात्रसंघ का कार्यकाल केवल छह महीने का होगा और इसपर खर्च किए गए पैसे व्यर्थ हो जाएंगे।

छात्र संगठनों का विरोध

साथ ही मार्च में चुनाव होने पर विवि के 20 फीसद विद्यार्थी ही इसमें शामिल हो सकते हैं। ऐसे में स्नातक, पीजी में नए सत्र में नामांकन व एमफिल में नामांकन को लेकर आदेश जारी होने के बाद ही छात्रसंघ चुनाव कराया जाए। छात्र संगठनों का विरोध देखते हुए विवि प्रशासन ने राजभवन को भी इस आशय से अवगत करा दिया। इसके बाद डीएसडब्ल्यू डॉ. अभय कुमार सिंह व अन्य अधिकारियों की ओर से तैयार किए गए प्रस्ताव में छात्रसंघ चुनाव अगस्त में कराने की बात है।

कोरोना वायरस का असर

हालांकि, विवि की ओर से चुनाव के लिए मुख्य निर्वाचन अधिकारी के साथ अन्य चुनाव अधिकारी भी बनाए गए थे। कॉलेजों से वोटर लिस्ट आनी बाकी थी। हालांकि, कोरोना वायरस का असर शुरू होने से विवि को 14 अप्रैल तक बंद कर दिया गया है। ऐसे में विवि के खुलने और आगे की कवायद कब शुरू होती है। साथ ही चुनाव को लेकर राजभवन नई तिथि कब तय करता है इसका इंतजार है।

प्रेम को मिला इंटर विज्ञान में जिले में दूसरा स्थान

मुरौल प्रखंड के दरधा निवासी जयनारायण साह के पुत्र प्रेम कुमार ने इंटर के विज्ञान संकाय से जिले में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। प्रेम आगे चल आइएएस बनना चाहता है। अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता व शिक्षक सनी सर को दिया। उसके पिता बिजली मिस्त्री बताए गए हैं।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस