मुजफ्फरपुर, जेएनएन। जन-औषधि केंद्र से नियमित दवा खरीदकर आर्थिक बचत करने वाले पोखरिया पीर एमजी कॉलोनी में रहनेवाले जीवछ राम के अनुभव को पूरे देश व दुनिया के सामने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साझा करेंगे। जीवछ राम के साथ पीएम की बातचीत सात मार्च को जन-औषधि दिवस पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी। इस मौके पर जीवछ राम के परिवार के साथ केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सांसद डॉ.संजय जायसवाल, सांसद अजय निषाद भी मौजूद रहेंगे। सांसद अजय निषाद ने बताया कि गरीबों व जरूरतमंदों के लिए जन-औषधि केंद्र से मिल रहीं सस्ती दवाएं वरदान हैं।

पीएमओ से आया फोन

पीएमओ कार्यालय से मंगलवार को जीवछ राम के मोबाइल नंबर पर संपर्क किया गया। जन-औषधि केंद्र से जुडऩे की उनसे जानकारी ली गई। उन्होंने बताया कि डायबिटीज की नियमित दवा ले रहे हैं। पहले हर माह 2500 से 3000 हजार की राशि इस पर खर्च होती थी। अब जन-औधषि केंद्र से दवाएं लेने पर 250 से 300 रुपये में ही काम चल जाता है।

सुनील भैया ने बताया रास्ता

जीवछ की मानें तो पिछले साल दशहरा से वह बीमारी से परेशान हैं। बबलू इलेवन क्रिकेट एकेडमी के कोच सुनील भैया से आरडीएस कॉलेज मैदान में टहलने के दौरान मुलाकात हुई। उन्होंने प्रधानमंत्री जन-औषधि केंद्र का पता बताया। राजपूत द्वार के सामने गए और केंद्र संचालक पंकज कुमार झा से मिले। जो दवाएं बाजार से 200-250 रुपये में खरीदते थे। वे अब जन-औषधि केंद्र पर 15 रुपये में ही मिल जाती हैं। वे प्राइवेट नौकरी कर घर-परिवार चला रहे हैं।ं दवा पर बचत से किराना दुकान में उधारी भरते हैं और दो रोटी चैन से खा लेते हैं। सात मार्च को प्रधानमंत्री से अपना अनुभव साझा करने के दौरान धर्मपत्नी मीना देवी व बच्चे भी साथ रहेंगे।

जन-औषधि केंद्र पर भी तैयारी

प्रधानमंत्री जन-औषधि केंद्र के संचालक पंकज कुमार झा ने बताया कि उनके मार्केटिंग पदाधिकारी अशोक द्विवेदी ने जन-औषधि दिवस पर पूरी तैयारी रखने तथा नियमित लाभ लेने वालों की सूची मांगी है। प्रधानमंत्री लाभान्वित से बातचीत करेंगे।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग

भाजपा जिलाध्यक्ष रंजन कुमार ने भी उनको तैयार रहने की जानकारी दी है। उनके केंद्र से तीन लाभार्थी रामबाग की रेखा देवी, गोपालपुर तरौरा के दुलार पंडित गोप व पोखरिया पीर के जीवछ राम नियमित दवा ले रहे हैं। तीनों के नाम की सूची अपने अधिकारी को दे दी है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लिए विशेष टावर लगाया जाएगा। सर्वे के लिए टीम आई थी। 19 जून 2017 को केंद्र का शुभारंभ किया गया था। पहले 300 से 400 की बिक्री होती थी। अब प्रतिदिन 20 से 30 हजार के बीच हो रही है। दवा लेने के लिए लंबी कतार लगती है। यहां प्रिंट पर जेनरिक मेडिसिन दी जाती है। अब लोगों का इस पर विश्वास बढ़ रहा है।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस