मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। महागठबंधन और भाजपा के लिए प्रतिष्ठा की सीट बनी कुढ़नी विधानसभा उपचुनाव के लिए मतदान शुरू ही गया है। ठंड के बावजूद सुबह से वोटर बूथों पर पहुंच रहे हैं। कड़ी सुरक्षा में यहां शाम छह बजे तक वोट डाले जाएंगे। कुल 13 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला तीन लाख से अधिक मतदाता करेंगे। इसके लिए 320 बूथों पर मतदान चल रहा है।

पहले दो घंटे में 11 प्रतिशत, 11 बजे तक 24 प्रतिशत और 1 बजे तक 37 प्रतिशत मतदान हुआ था। वहीं, दोपहर तीन बजे तक 48 प्रतिशत मतदान हुआ था। जबकि शाम पांच बजे तक 53 फीसदी और शाम छह बजे तक कुल 57.9 फीसदी मतदान हुआ। कुढ़नी विधानसभा उपचुनाव में 55.20 प्रतिशत पुरुषों ने वोट डाले। वहीं 61.42 प्रतिशत महिलाओं ने वोट डाले। पुरुषों की तुलना में करीब छह प्रतिशत अधिक वोट महिलाओं ने डाले। कुढ़नी उपचुनाव के दौरान सभी बूथों पर मतदाताओं में काफी उत्साह देखा गया। यहां लंबी कतार में लोग वोट डालने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते दिखे।

विदित हो कि एलसीटी घोटाले में तीन साल की सजा होने के बाद राजद विधायक अनिल सहनी की सदस्यता समाप्त कर दी गई थी। इससे इस सीट पर उपचुनाव हो रहा है। यहां जदयू के मनोज कुमार सिंह उर्फ मनोज कुशवाहा और भाजपा के केदार गुप्ता में सीधी लड़ाई है। पिछले चुनाव में केदार महज 712 वोट से हार गए थे। वहीं मनोज भी यहां से दो बार विधायक रह चुके हैं। 2015 के चुनाव में उन्हें केदार गुप्ता ने ही 12 हजार वोटों से हराया था।

शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष मतदान के लिए सभी 320 बूथों पर अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है। गड़बड़ी करने वालों पर सख्ती के आदेश दिए गए हैं। मतगणना आठ दिसंबर को होगी। राज्य में गोपालगंज और मोकामा उपचुनाव में भाजपा और महागठबंधन को एक-एक सीट मिलने के बाद इस उपचुनाव को फाइनल के रूप में देखा जा रहा है। इसलिए दोनों गठबंधन ने इसे प्रतिष्ठा की लड़ाई बना ली है। इस एक सीट के लिए सभी दलों के दर्जनों नेताओं ने यहां कई दिनों तक जनसंपर्क किया।

 

90 बूथ अतिसंवेदनशील

उपचुनाव के लिए 90 बूथों को अतिसंवेदनशील 88 बूथों को संवेदनशील घोषित किया गया है। यहां अतिरिक्त सुरक्षा के निर्देश दिए गए हैं। कुल 16 कंपनी अर्द्धसैनिक बलों की कंपनी लगाई गई है। 64 बूथों पर माइक्रो आब्जर्वर की तैनाती की गई है। 39 सेक्टर, पांच जोनल एवं एक सुपर जोनल मजिस्ट्रेट की प्रतिनियुक्ति की गई है।

चौंकाने वाला परिणाम देता रहा है कुढ़नी 

शहर से सटे और राजधानी की ओर जाने वाली सड़क के किनारे का यह विधानसभा हमेशा चौंकाने वाला परिणाम देता रहा है। वर्ष 2015 में जदयू-राजद-कांग्रेस के साथ रहने के बाद भी यहां भाजपा ने बड़े अंतर से जीत दर्ज की थी। वहीं 2020 के विधानसभा चुनाव में भाजपा-जदयू के साथ होने पर भी राजद ने बाजी मारी थी। इसलिए राजनीति के जानकार भी स्पष्ट अनुमान नहीं लगा पा रहे हैं, मगर इस उपचुनाव में भाजपा और महागठबंधन में कड़ा संघर्ष देखने को मिल सकता है।

एक नजर में कुढ़नी विधानसभा उपचुनाव

  • कुल मतदान केंद्र की संख्या- 320
  • कुल भवनों की संख्या -184
  • महिला मतदाता- 146507
  • पुरुष मतदाता- 164474
  • अन्य- 06
  • सेवा मतदाता - 741
  • कुल मतदाताओं की संख्या- 311728
  • कुल उम्मीदवार - 13

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट