मुजफ्फरपुर, जेएनएन। जंगली जानवरों के आतंक से किसानों के फसलों का बर्बादी हो रहा है। इसके कारण किसान काफी परेशान हैं। इससे मुक्ति दिलाने को लेकर समाहरणालय में वन विभाग व प्रशासन के अधिकारियों के साथ पूर्व मंत्री अजीत कुमार व किसान प्रतिनिधियों की बैठक हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि 15 जनवरी तक जंगली जानवरों को मार गिराने का अभियान शुरू हो जाएगा।

बैठक में वन विभाग की तरफ से रणनीति तैयार कर ली गई है। जिसके बारे में पूर्व मंत्री व किसान प्रतिनिधियों को अवगत करा दिया गया है। इधर, पूर्व मंत्री ने कहा कि वन विभाग की तरफ से पंद्रह जनवरी तक का समय दिया गया है।

अगर इस अवधि में जंगली जानवरों से मुक्ति नहीं दिलाया गया तो 16 जनवरी से वे किसानों के लिए आंदोलन की शुरुआत करेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्व में भी इस मुद्दे को लेकर आंदोलन किया गया था। जिस पर प्रशासन की तरफ से आश्वासन दिया गया। लेकिन अब तक धरातल पर इसका असर नहीं दिख रहा है।

इधर, जंगली जानवरों के आतंक के कारण सरैया प्रखंड के विश्वंभरपुर इलाके के कई किसानों ने समस्याओं को लेकर जिलाधिकारी के पास आवेदन दिया। जिसमें बताया गया कि जंगली जानवरों के आतंक से उनके फसल बर्बाद हो रहे हैं। इसलिए जल्द जानवरों से मुक्ति दिलाने की दिशा में उपाय किया जाए। जिस पर डीएम ने किसानों को शीघ्र मुक्ति दिलाने का आश्वासन दिया है।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस