मुजफ्फरपुर, जेएनएन। सर्टिफिकेट, फाइल और महत्वपूर्ण फाइलों के अचानक गायब हो जाने से बीआरए बिहार विश्वविद्यालय का पुराना नाता है। ताजा मामला नैक मूल्यांकन से जुड़े कागजात का है। अब विवि में रखी गई नैक मूल्यांकन से जुड़ी फाइल अचानक गायब हो गई है। इस कारण विवि प्रशासन के पास अब यह जानकारी भी उपलब्ध नहीं है कि विवि के कितने कॉलेजों की नैक से ग्रेडिंग हुई है। जब इसकी जानकारी विवि के विकास शाखा को हुई तो विवि के सभी कॉलेजों को पत्र जारी किया गया कि नैक मूल्यांकन से जुड़ी जानकारी विश्वविद्यालय में उपलब्ध कराएं। विवि के प्रभारी विकास पदाधिकारी प्रो. प्रमोद कुमार ने भी स्वीकार किया कि विवि के पास कॉलेजों की जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसी को लेकर कॉलेजों को पत्र भेजा गया है।

25 कॉलेजों का हो चुका मूल्यांकन

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के 25 कॉलेजों का नैक मूल्यांकन हो चुका है। वहीं विवि से संबद्ध कई कॉलेजों ने अबतक मूल्यांकन के लिए आवेदन भी नहीं दिया है। बताया गया कि इन कॉलेजों में आधारभूत संरचना का अभाव है। जबकि, मूल्यांकन के समय आधारभूत संरचना अहम आधार माना जाता है।

कॉलेज नहीं कर रहे आदेश का अनुपालन

विवि की ओर से भी पूर्व में ही घोषणा की गई थी कि जिन कॉलेजों में आधारभूत संरचना का अभाव है उन्हें वित्तीय सहायता दी जाएगी। इसके लिए सूची तैयार कर विवि को भेजना था, लेकिन इसमें भी कई कॉलेज रूचि नहीं ले रहे हैं। साथ ही कॉलेजों की ओर से (एसएसआर) सेल्फ स्टडी रिपोर्ट भेजने में भी लापरवाही बरती जा रही है।  

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस