मुजफ्फरपुर, जेएनएन। नगर थाना क्षेत्र के पुरानी बाजार के आभूषण व्यवसायी रोहित हत्याकांड के मुख्य साजिशकर्ता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसे गायघाट थाना क्षेत्र से दबोचा गया है। गोपनीय स्थान पर रखकर पूछताछ की जा रही है। उसकी पहचान मनोज सहनी के रूप में हुई है। वह इस कांड में एक साल से फरार था। डीएसपी पूर्वी गौरव पांडेय ने बताया कि शीघ्र ही पूरे मामले का उद्भेदन किया जाएगा।

 अभी कार्रवाई चल रही है। बड़े गिरोह का पर्दाफाश हो सकता है। इसके बाद विस्तृत जानकारी दी जाएगी। इधर, पुलिस जांच में पता लगा कि मनोज लूटपाट करने वाले गिरोह का भी सक्रिय बदमाश है। गत दिनों गायघाट मैठी टॉल प्लाजा के समीप मछली व्यवसायी से ढ़ाई लाख लूट मामले में भी उसकी संलिप्तता के बिंदु पर पूछताछ की जा रही है।

यह हुई थी घटना 

10 जनवरी 2018 की रात रोहित की पुरानी बाजार स्थित दुकान में घुस गोली मार हत्या कर दी गई थी। तत्कालीन नगर थानाध्यक्ष केपी सिंह ने मामले का उद्भेदन करते हुए शूटर प्रदीप साह उर्फ दीपक, बाबुल सिंह उर्फ रविकांत, रंजीत पासवान, विक्की और बैद्यनाथ पासवान को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। पांच लाख रुपये देकर मनोज सहनी ने इस घटना की साजिश रची थी। यह साजिश जेल में रची गई थी। इसमें रोहित के एक युवती से मोबाइल पर बातचीत होने की भी खूब चर्चा हुई थी। लेकिन, वह कौन थी और रोहित से उसका क्या रिश्ता था। यह सच्चाई पुलिस सामने नहीं ला सकी।

 घटना में लाइनर के रूप में एक आभूषण दुकान में काम करने वाले कर्मी को भी गिरफ्तार किया गया था। वहीं शूटर प्रदीप को दस किलो गांजा के साथ मोतीझील पुल पर से दबोचा गया था। घटना को अंजाम देने के पीछे कभी प्रोपर्टी विवाद तो कभी प्रेम प्रसंग की चर्चा हुई थी। लेकिन, स्पष्ट नहीं हो सका था। पुलिस का कहना है कि मनोज से पूछताछ के बाद पूरी स्थिति स्पष्ट होगी।

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस