बगहा। पीपी तटबंध के चंदरपुर रिटायर लाइन पर दबाव तेज हो गया है। जहां गंडक नदी की धार तेज वेग से सीधे टकरा रही है। रिटायर लाइन बांध के स्लोप जलधारा के दबाव से डैमेज होने लगा है। जिससे अभियंताओं की बेचैनी बढ़ गई है। कार्यपालक अभियंता स्थल पर कैंप कर रहे हैं। मुस्तैदी से युद्धस्तर बचाव कार्य किया जा रहा है। स्थिति पर नियंत्रण करने की कोशिश जारी है। परन्तु नदी के तेज धार व वेग के आगे फिलहाल सबकुछ विफल नजर आ रहा है।

गौरतलब है कि चंदरपुर में रिटायर लाइन तबाह होने पर नदी का दबाव मेन बांध पर बढ़ जाएगा।

कार्यपालक अभियंता मोहम्मद सईद अहमद ने बताया कि नदी धार की रिटायर लाइन सीधे टकरा रही है। जलधारा में मूवमेंट तेज है। दबाव प्रभावित करने के लिए बाढ़ संघर्षात्मक कार्य किया जा रहा है। स्थिति नियंत्रण में हो जाएगी। बचा कार्य युद्धस्तर पर कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि चंदरपुर रिटायर लाइन यथा स्थिति में सुरक्षित रहेगा। मौके पर सहायक अभियंता कामेश्वर प्रसाद, जेई उमेश्वर सिंह, रविकांत कुमार, धर्मेंद्र प्रसाद मुस्तैद होकर बचाव कार्य की निगरानी कर रहे हैं।

------------------------

इंसेट बाक्स

गौतमबुद्ध पुल के गाइडबांध व पीलर पर दबाव बरकरार

भितहा, संवाद सूत्र: गंडक नदी पर बने गौतमबुद्ध सेतु के दक्षिणी गाइड बांध समेत एक नंबर पाया पर नदी का दबाव बरकरार है। जहां डिवीजन दो से बचाव कार्य कराया जा रहा है। बुधवार को कटाव नियंत्रण में है। नदी की बेरुखी तांडव को लेकर गाइड बांध समेत पुल के एक नंबर पीलर की सुरक्षा को लेकर अभियंता संवेदनशील हैं। मौके पर मौजूद सहायक अभियंता पंकज कुमार और कनीय अभियंता ब्रजेश कुमार ने बताया कि बताया कि उक्त स्थल पर पांच मीटर में दबाव है। फिलहाल विशेष संवेदनशील प्रतीत हो रहे दो सौ मीटर के रेंज में सुरक्षात्मक व बचाव कार्य किया जा रहा है।

Edited By: Jagran