दरभंगा, जेएनएन। जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि बिहार के नए निर्माण की दिशा में कार्य चल रहा है। रैली में भीड़ को देखकर यह प्रतीत होता है कि दरभंगा लोकसभा क्षेत्र से एनडीए का जो भी उम्मीदवार होगा, यहां की जनता उसपर अपना मुहर लगा देगी। वे रविवार को राज मैदान में जदयू के प्रमंडलीय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में मारे गए सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

 सभा को संबोधित करते राज्यसभा सांसद राष्ट्रीय महासचिव आरसीपी सिंह ने कहा कि नीतीश की सरकार में उन चीजों पर ध्यान दिया गया, जिसपर पीछे की सरकार को कोई ध्यान नहीं दिया। कहा कि पहले लोग सोचते थे कि बिहार में काम नहीं होता है। अब लोगों की सोच बदली है। अभी तक संसद में हमारे मात्र दो सांसद है। आह्वान किया कि आगामी लोकसभा चुनाव में संसद में जदयू के सांसदों की संख्या भी दिखनी चाहिए। सभी बुर्जुगों को पेंशन हमारी सरकार की सोच है।

 बिहार में बीपीएल-एपीएल का जमाना चला गया। सरकार की सोच और नियत को लोग देखें। सरकार की सोच है कि अंतिम पायदान पर खड़े लोगों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ना है। केंद्र और राज्य सरकार की एक ही सोच है। आज का सम्मेलन मात्र ट्रेलर था। 3 मार्च को पटना में होने वाली एनडीए की रैली में शामिल होकर इस अभियान को आगे बढ़ाना है। बिहार की सभी 40 लोकसभा सीटों पर एनडीए उम्मीदवारों को जिताना है। इससे पूर्व कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्जवलित कर की गई।

 सम्मेलन की अध्यक्षता भवन निर्माण मंत्री महेश्वर हजारी ने की। मंच संचालन जदयू जिलाध्यक्ष सुनील भारती ने किया। मौके पर खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री मदन सहनी, परिवहन मंत्री संतोष कुमार निराला, पंचायती राज मंत्री कपिलदेव कामत, सांसद रामनाथ ठाकुर, पूर्व मंत्री अशोक चौधरी, रामलखन राम रमण, राष्ट्रीय महासचिव संजय झा, एमएलसी दिलीप चौधरी, ललन सर्राफ, पूर्व एमएलसी विनोद चौधरी, हायाघाट विधायक अमरनाथ गामी, गौड़ाबौराम विधायक शशिभूषण हजारी, बेनीपुर विधायक सुनील चौधरी, अजय आलोक सहित तीनों जिला के जिलाध्यक्ष, विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्ष व हजारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

 

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस