मुजफ्फरपुर, जेएनएन। जिले में होने वाली बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की मैट्रिक परीक्षा अब खुले आकाश के नीचे टेंट लगाकर नहीं ली जाएगी। परीक्षा को लेकर हुई समीक्षा बैठक में जिला शिक्षा पदाधिकारी डॉ. विमल ठाकुर ने बताया कि निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर 31 जनवरी से एक फरवरी के बीच डेस्क व बेंच की आपूर्ति करा दी जाएगी।

समीक्षा में ंआरडीएस कॉलेज व मुखर्जी सेमिनरी स्कूल के केन्द्राधीक्षकों ने बेंच-डेस्क की कमी की ओर ध्यान दिलाया। सभी सेंटरों पर कदाचार मुक्त परीक्षा कराने की रणनीति बनी। मौके पर कार्यक्रम पदाधिकारी अब्दुस्सलाम अंसारी, शर्मिला राय, नासिर हुसैन, प्राचार्य सुनील कुमार, सांख्यिकी पदाधिकारी राजेंद्र प्रसाद सिंह, कार्यालय सहायक रविकांत आदि उपस्थित थे।  

  शिक्षक ही देते समाज को दिशा, मिले सम्मान

बिहार विश्वविद्यालय अंग्रेजी स्नातकोत्तर विभाग में चतुर्थ सेमेस्टर के छात्र- छात्राओं ने शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन किया। अध्यक्षता करते हुए अंग्रेजी विभागाध्यक्ष डॉ.एसके पाल ने कहा कि शिक्षक समाज को दिशा देते हैं। उनका सम्मान तो होना ही चाहिए। 

छात्र एवं शिक्षक के बीच का परस्पर संबंध सभी संबंधों के परे होता है। कहा कि अगर एक शिक्षक छात्र केभविष्य को गढऩे का काम करता है तो छात्र भी उनकी गरिमा व सम्मान के लिए सब कुछ न्योछावर कर देता है। ऐेसे आयोजन से भावी पीढ़ी को प्रेरणा मिलेगी। छात्र-छात्राओं की ओर से विभागाध्यक्ष को अंगवस्त्रम एवं स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। स्वागत मुरारी कुमार ने, संचालन दीनानाथ कुमार एवं धन्यवाद ज्ञापन पंकज कुमार ने किया। 

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस