पूर्वी चंपारण [जेएनएन]। काठमांडू में गिरफ्तार आइएसआइ एजेंट शमसुल होदा ने नेपाल पुलिस की पूछताछ में कई राज खोले हैं। उसने कहा कि भारत के सीमाई क्षेत्रों में तबाही मचाने के लिए तीन करोड़ रुपये सिर्फ गिरोह पर खर्च करने को मिले थे। इरादा भारतीय रेल को निशाना बनाना और देश में जानमाल को क्षति पहुंचाना था।

विदित हो कि बीते दिनों बिहार के घोड़ासहन में रेल ट्रैक को बम से उड़ाने की आतंकी साजिश नाकाम कर दी गई थी। इसके बाद आतंकियों ने कानपुर में ट्रैक को विस्फोट से उड़ाकर दो ट्रेनों को दुर्घटनाग्रस्त किया, जिनमें एक इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटना में जान-माल की भारी क्षति हुई। जांच के क्रम में इनके पीछे आइएसआइ का हाथ होने का पता चला। आइएसआइ दुबई के बिजनेसमैन शमशुल होदा के माध्यम से ऑपरेट कर रही थी।

CBI के हत्थे चढ़ा यह आयकर आयुक्त, बिहार से चेन्नई तक मिली करोड़ों की संपत्ति

घोड़ासहन के साथ आदापुर में भी करनी थी वारदात

नेपाल पुलिस की पूछताछ में शमशुल ने बताया कि ब्रजकिशोर गिरी को भारतीय अपराधियों के साथ घोड़ासहन (बिहार) में विस्फोट कराने को कहा गया था। इसके बाद आदापुर थाना क्षेत्र के नकरदेई में रेल ट्रैक को उड़ाने का आदेश दिया था। लेकिन, दोनों काम नहीं हो सके।

कैशलेस घूसखोरी : दारोगा जी ने ली सोने की चेन, थानेदार के लिए अंगूठी

हत्या कर भेजा वीडियो

शमशुल ने बताया कि इसके बाद ब्रजकिशोर से कहा गया कि विस्फोट की जिम्मेदारी लेनेवाले अरुण राम व दीपक राम की हत्या कर वीडियो भेजे। ब्रजकिशोर ने अन्य लोगों के साथ मिलकर दोनों की हत्या की और वीडियो बनाकर व भारतीय मीडिया में आई खबरों की कतरन दुबई भेजी।

दुबई से भेजता था पैसे

ब्रजकिशोर ने अरुण व दीपक को आठ लाख रुपये दिए थे। दुबई से जितने भी पैसे शमसुल भेजता था, उसका वह हिसाब लेता था। ब्रिजकिशोर खबरों को लेकर संजीदा रहता था। गिरोह के बदमाश खबरों को ब्रजकिशोर तक पहुंचाते थे, जो दुबई भेजी जाती थी। फिर दुबई से आइएसआइ को।

पूछताछ को भारतीय एजेंसियां भी पहुंचीं

नेपाल पहुंची एनआइए टीम शमसुल समेत चार लोगों की गिरफ्तारी के बाद भारतीय सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों के भी नेपाल पहुंचने की सूचना है। बताया गया कि एनआइए की टीम शमसुल से सुराग पाने की कोशिश में है। रॉ व अन्य सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों के भी नेपाल पहुंचने की बात कही जा रही है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस