मुजफ्फरपुर। केंद्र सरकार की आयुष्माण भारत योजना का लाभ मिल सके इसके लिए अस्पतालों में विशेष आयुष्मान वार्ड बनाने तथा योजना के तहत उपलब्ध सुविधाओं को डिस्प्ले करने का निर्देश जिले में योजना के कार्यान्वयन की जांच करने पहुंची केंद्रीय टीम ने दिया। डा. प्रवीण इंगोडेन एवं डा. अमिताभ के नेतृत्व में आई टीम ने सदर अस्पताल, एसकेएमसीएच एवं मुशहरी सीएचसी का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कई आवश्यक निर्देश भी दिए। निरीक्षण के दौरान सिविल सर्जन डा. शैलेश प्रसाद सिंह मौजूद रहें।

मरीजों को मिले योजना का पूरा लाभ : आयुष्मान भारत प्रोजेक्ट के डिप्टी सीईओ प्रवीण गेदाम ने शुक्रवार को बिहार सरकार के विभागीय प्रशासी पदाधिकारी अमिताभ सिंह के साथ देर शाम मुशहरी में सीएचसी का जायजा लिया। इस दौरान आयुष्मान भारत प्रोजेक्ट के तहत जारी कायरें की समीक्षा की। उन्होंने टीम के साथ सीएचसी के क्त्रियाकलापों, कार्यप्रणाली आदि की जानकारी ली। टीम के सदस्यों ने ओपीडी, ऑपरेशन थियेटर, प्रसव कक्ष, एईएस वार्ड, महिला व पुरुष वार्ड, आयुष्मान भारत काउंटर, दवा वितरण काउंटर सहित अस्पताल परिसर में विभिन्न केंद्र एवं राज्य प्रायोजित चिकित्सा योजनाओं के दीवार लेखन को देखा।

श्री गेदाम ने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ.उपेंद्र चौधरी, स्वास्थ्य प्रबंधक कुमार रामकृष्ण व आरोग्य मित्र पंकज कुमार को आयुष्मान भारत योजना के तहत जितनी बीमारियों का इलाज सीएचसी में किया जा सकता है उसका विस्तृत ब्योरा दीवार लेखन के माध्यम से दर्शाने का निर्देश दिया। अस्पताल परिसर और वाडरें आदि की स्वच्छता आदि कई मामलों में टीम के सदस्यों ने यहां की व्यवस्था बेहतर बताते हुए प्रशंसा की।

डिप्टी सीईओ ने आरोग्य मित्र से आयुष्मान भारत योजना के तहत अब तक इलाज किए गए मरीजों की जानकारी ली। उन्होंने इसे काफी कम और धीमी गति बताते हुए इसमें तेजी लाने का निर्देश दिया। मौके पर मौजूद शल्य चिकित्सक ज्ञानेंद्र कुमार व डॉ. प्रीटी शिल्पा से सीएचसी में योजना के मरीजों को अधिकाधिक चिकित्सा और ऑपरेशन आदि कराने की सलाह दी। उन्होंने बताया कि इससे उन्हें भी ज्यादा लाभ होगा और अस्पताल प्रबंधन के पास भी अधिकाधिक राशि उपलब्ध हो पाएगी। अस्पताल की चहारदीवारी बनवाने के लिए साथ आए सीएस डॉ.शैलेश प्रसाद सिंह को निर्देशित किया। सफाईकर्मियों को कम मेहनताना मिलने की बात भी मौके पर सामने आई। निरीक्षण के दौरान सभी कर्मी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप