मुजफ्फरपुर, जेएनएन। जिले में इनदिनों डायरिया एवं पीलिया का प्रकोप बढ़ गया है। एसकेएमसीएच में गुरुवार को डायरिया से पीडि़त 11 तो पीलिया से पीडि़त पांच मरीज इलाज को पहुंचे। इन मरीजों को चिकित्सकों ने भर्ती कर समुचित जांच व इलाज प्रारंभ कर दिया है। चिकित्सकों के अनुसार इस बीमारी से किसी भी उम्र के लोग कभी भी पीडि़त हो सकते हैं।

 हालांकि इसके सर्वाधिक शिकार बच्चे होते हैं। इनदिनों डायरिया एवं पीलिया से ग्रसित मरीज नित्य इलाज को पहुंच रहे हैं। शिशु रोग विभाग के डॉ. यूसी विद्यार्थी, डॉ. विजय कुमार एवं औषधि विभाग के डॉ. एएन सिंह व डॉ. सतीश कुमार सिंह ने बताया कि यह वायरस जनित बीमारी है। यह बीमारी दूषित पानी व खाद्य पदार्थ के सेवन से ज्यादा होने की संभावना रहता है।

ऐसे करें बचाव

डायरिया व पीलिया बीमारी से बचाव को सबसे ज्यादा साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इसके साथ ही दूषित पानी व खाद्य पदार्थ के सेवन से बचना चाहिए। पानी को उबाल कर पीना चाहिए। बाजार में खुले में बिकने वाले खाद्य पदार्थ के सेवन से परहेज करना चाहिए। तेल मसाला का कम से कम सेवन करना चाहिए।

   इस बारे में एसकेएमसीएच अस्पताल प्रबंधक संजय कुमार साह ने कहा‍ कि एसकेएमसीएच में इन बीमारियों का समुचित इलाज व जांच की व्यवस्था है। यहां आने वाले मरीजों को सभी सुविधा निशुल्क उपलब्ध कराई जाती है। 

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस