मुजफ्फरपुर, जेएनएन । बेला में होटल कारोबारी सह ट्रैवल एजेंसी संचालक सोनू सिंह को 24 सितंबर की रात गोली मारने के मामले का पुलिस ने खुलासा किया है। इसमें होटल में काम करने वाले विक्रम ने ही लाइनर की भूमिका निभाई थी। उसे बेला, इमली चौक स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया गया है। उसने पैसे के लालच में ऐसा कदम उठाया।

बेला थानेदार राजकुमार ने बताया कि आरोपित को जेल भेजने की कवायद की जा रही है।

पूछताछ में उसने बताया कि गोली मारने वाला आरोपित मुशहरी कोठिया का रहने वाला है। पुलिस ने जब उसके घर पर छापेमारी की तो वह फरार मिला। उसका मोबाइल भी घटना के बाद से बंद है। इससे उसका लोकेशन भी पुलिस को नहीं मिल रहा है। अंतिम लोकेशन बेला इलाके में ही मिला था। इसके बाद से एक बार भी उसका फोन ऑन नहीं हुआ है। इधर, गिरफ्तार आरोपित ने बताया कि 17 सितंबर से वह सोनू के होटल में काम कर रहा है। पैसे के लालच में उसने घटना को अंजाम देने में लाइनर की भूमिका निभाई थी।

बाइक से था पीछे-पीछे

पूछताछ में पता चला कि 24 सितंबर की रात सोनू अपने होटल से निकला था। काम समाप्त होने के बाद विक्रम अक्सर अपने घर चला जाता था। लेकिन, उस दिन वह सोनू के साथ खाने-पीने की बात बोलकर पीछे-पीछे अपनी बाइक से जाने लगा। इसी दौरान उसने अपने मोबाइल से मुख्य आरोपित को कॉल कर सोनू का लोकेशन दिया। रास्ते में कई बार उससे बात भी की।

झोला गिरने का बनाया बहाना

बेला औद्योगिक क्षेत्र फेज वन में पहुंचते ही बाइक सवार तीन अपराधी सोनू को बिना पहचाने निकल गए। यह देखकर विक्रम ने अपनी बाइक से जानबूझकर झोला गिरा दिया और चिल्लाकर कहा-सोनू भैया रुकिए झोला गिर गया है। यह सुनते ही तीनों अपराधियों ने अपनी बाइक घुमाई और सोनू के बगल में आकर गोली मारकर भाग निकले। घटना के बाद पुलिस ने जब कर्मी के मोबाइल की कॉल डिटेल्स खंगाली तो सच्चाई सामने आई। सख्ती से पूछताछ करने पर उसने सबकुछ उगल दिया।  

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप