मुजफ्फरपुर, जासं। फ्लाइट का टिकट बुक करने के दौरान एक कंपनी ने आइएएस के साथ फ्राड किया है। आइएएस सहायक समाहर्ता श्रेष्ठ अनुपम ने नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। नगर थानाध्यक्ष ओमप्रकाश ने बताया कि कांड दर्ज कर जांच की जा रही है। सहायक समाहर्ता ने आवेदन में बताया है कि 23 नवंबर को पटना से दिल्ली के लिए वेबसाइट से ट्रैवोलुक नामक कंपनी से फ्लाइट का आनलाइन टिकट बुक करके पेमेंट किया था। कंपनी की ओर से फ्लाइट लोडिंग इन प्रोग्रेस का मैसेज आया। इसके कुछ समय बाद एक मेल आई। इसमें लिखा था कि बुकिंग रद हो गई है। इसके लिए 4,612 रुपये का पेमेंट किया था। इसका रिफंड अभी तक नहीं हो पाया है। उन्होंने कंपनी के कस्टमर सपोर्ट नंबर पर कई बार बात करने की कोशिश की, लेकिन कोई जवाब नहीं आया। उन्होंने अपने स्तर से तहकीकात की तो पता चला कि कंपनी ने हजारों लोगों के साथ इस तरह की धोखाधड़ी की है। पुलिस का कहना है कि साइबर फ्राड का मामला है। कांड दर्ज कर जांच कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। इसके लिए साइबर एक्सपर्ट से भी संपर्क किया गया है। 

पहले भी कई अधिकारियों के साथ हो चुकीं घटनाएं

इसके पहले भी साइबर फ्राड ने आइपीएस, प्रशासनिक अधिकारी, दारोगा समेत कई पदाधिकारियों के साथ इस तरह से ठगी की है। तमाम मामले में प्राथमिकी तो दर्ज कराई गई, लेकिन अधिकतर में गिरफ्तारी नहीं हो सकी। बताते चलें कि साइबर फ्राड तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर लोगों को झांसे में लेते हैैं। इसके बाद उनसे ठगी की जाती है। साइबर फ्राड गिरोह के बदमाशों पर नकेल नहीं कसी जा रही है।

चार्जिंग प्वाइंट फेल, परेशान हुए यात्री

जासं, मुजफ्फरपुर : जंक्शन से आनंद विहार के लिए गुरुवार को चली सप्तक्रांति एक्सप्रेस के एसी कोच में चार्जिंग प्वाइंट खराब होने से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। यात्रियों ने रेलवे को ट््वीट कर इसकी शिकायत की। ट्रेन में यात्रा कर रहे शहर के गोबरसही निवासी अनुपम आनंद ने बताया कि बी-टू कोच में लगभग सभी चार्जिंग प्लाइंट काम नहीं कर रहे थे। जब लगातार यात्रियों ने ट््वीट किया तो गोरखपुर में कर्मचारियों ने उसे ठीक किया। यात्रियों ने कहा कि भाड़ा बढ़ाने के बाद भी रेलवे सुविधाएं मुहैया नहीं करा पा रही है।

 

Edited By: Ajit Kumar