मुजफ्फरपुर : सदर थाना क्षेत्र के गोबरसही स्थित एक बाइक एजेंसी में शनिवार को वाहन की सर्विसिग के बाद रुपये कम करने को लेकर विवाद हो गया। सर्विसिग सेंटर के कर्मी के रवैये के कारण वहां पर मारपीट की स्थिति बन गई। इसको देख उक्त युवक ने अपने कई दोस्तों को वहां पर बुला लिया। नतीजा दोनों तरफ से जमकर विवाद हुआ। इस बीच हंगामे की सूचना पर सदर थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों को समझाकर शांत कराया। एहतियातन पुलिस चार युवकों को पकड़कर थाने पर लाई। हालांकि किसी ने थाने में शिकायत दर्ज नहीं कराई। इसके बाद सभी को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। पुलिस का कहना है कि अक्सर बाइक एजेंसी पर ग्राहकों के साथ किसी न किसी बात को लेकर विवाद होता रहता है। गत दिनों भी आरसी पेपर नहीं देने के कारण विवाद गहरा गया था। थानाध्यक्ष सत्येंद्र मिश्रा ने बताया कि बाइक एजेंसी में सर्विसिग के दौरान मामूली बात को लेकर विवाद हुआ था। किसी तरफ से कोई आवेदन नहीं दिया गया है। चेतावनी देकर मामला सलटा दिया गया है।

दारोगा व सिपाहियों पर घर में घुसकर लूटपाट का परिवाद

मोतीपुर थाने में पदस्थापित दरोगा राजेश कुमार राम सहित पाच सिपाहियों पर घर में घुसकर मारपीट व लूटपाट करने का आरोप लगा है। महना निवासी मनोज कुमार सिंह ने इसे लेकर एसडीजीएम पश्चिमी के न्यायालय में परिवाद दर्ज कराया है। वादी ने बताया कि बीते दिनों दारोगा राजेश कुमार राम उनके दरवाज़े पर सशस्त्र बलों के साथ आए और बबलू सिंह की खोज करने लगे। घर में घुसकर सामान को बर्बाद कर दिया। विरोध करने पर उनके साथ मारपीट ही नहीं की, बल्कि गले से सोने की चेन व 17 हजार रुपये छीन लिए। धमकी दी कि ज्यादा बोलोगो तो दारू के केस में जेल भेज देंगे।

Edited By: Jagran