मुजफ्फरपुर : बोचहां में सोमवार को संदिग्ध स्थिति में विवाहिता की मौत मामले में मंगलवार को मायके वालों ने अहियापुर चंदन बखरी में शव के साथ सड़क जाम कर जमकर हंगामा किया। उग्र लोग पुलिस पर मामले को दबाने का आरोप लगा रहे थे। मौके पर अहियापुर थाने की पुलिस पहुंची। काफी मशक्कत के बाद थानाध्यक्ष के आश्वासन पर लोग शांत हुए।

बताया गया कि बोचहा एतवारपुर स्थित ससुराल में सोमवार को रौनक खातून की संदिग्ध स्थिति में मौत हो गई। जानकारी पर अहियापुर के चंदन बखरी से मायके वाले पहुंचे तो ससुराल स्थित घर से कुछ दूरी पर जर्जर मकान में फंदे से लटका उसका शव मिला। बोचहां पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। मंगलवार को पोस्टमार्टम के बाद मायके वाले शव के साथ चंदन बखरी में आए तो लोगों का गुस्सा भड़क उठा। लोग महिला के पति मोहम्मद इबरान पर समेत अन्य पर दहेज के लिए हत्या का आरोप लगा रहे थे। कहा कि दहेज में बाइक व रुपये की मांग की जा रही थी। उसकी हत्या कर शव को फंदे से लटका दिया गया। मामले में बोचहां थानाध्यक्ष ने बताया कि मायके वालों के आवेदन पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। मायके वालों ने पुलिस को बताया कि रौनक की शादी चार साल पूर्व बोचहा एतवारपुर के इबरान से हुई थी। वह राजमिस्त्री है। दो बच्चे हैं। हाल के दिनों में पति द्वारा दहेज के लिए महिला को प्रताड़ित किया जा रहा था। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। मामला दर्ज होने के बाद पति व अन्य आरोपित घर से फरार हो गए हैं।

Edited By: Jagran