मुजफ्फरपुर : मिठनपुरा थाना क्षेत्र के हरिसभा चौक के समीप गोली मारकर हुई गार्ड पंकज की हत्या मामले में शुक्रवार को मिठनपुरा थाने की पुलिस ने सीतामढ़ी में केशव सिंह की गिरफ्तारी को छापेमारी की। मेहसौल स्थित उसके घर पर मिठनपुरा थाने की पुलिस पहुंची। मगर, वह घर से फरार मिला। उसके पिता भी घर पर नहीं मिले। घर पर मां व बहन थी। इस पर पुलिस की तरफ से उन दोनों पर दबिश बढ़ाई गई। पुलिस का कहना है कि सीतामढ़ी में कुख्यात केशव के एक गुर्गे को दूसरे मामले में वहां की पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है। उससे पूछताछ में पता चला कि पंकज की हत्या करने के बाद केशव सीतामढ़ी भाग निकला था। इसके बाद वह एक शार्गिद के साथ रक्सौल गया। इसके बाद वीरगंज होते हुए नेपाल भाग निकला है। सीतामढ़ी पुलिस के हत्थे चढ़े शार्गिद ने पुलिस को बताया कि केशव सिंह का करीब 10 करोड़ से अधिक की संपत्ति पर राहुल ने कब्जा कर रखा है। इसी को लेकर वारदात को अंजाम दिया गया है। दूसरी ओर मामले में और दो लोगों को नामजद किया गया है। इन दोनों की गिरफ्तारी को लेकर भी पुलिस ने माधोपुर सुस्ता, कच्ची-पक्की व रज्जू साह लेन में शुक्रवार की शाम छापेमारी की। मगर सभी फरार मिले। इसके बाद पुलिस की तरफ से नामजद आरोपित ब्रजेश झा के पिता को दबिश बनाने के लिए हिरासत में ले लिया गया है। इसके अलावा और दो संदिग्धों को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। मिठनपुरा थानाध्यक्ष भागीरथ प्रसाद ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर लगातार कार्रवाई चल रही है। जल्द ही सभी को दबोच लिया जाएगा। बता दें कि मकान मालिक राहुल व उसके चचेरे भाई केशव के बीच जमीन विवाद का मामला चल रहा है। पूर्व में भी रंगदारी मांगने व हमला करने को लेकर मकान मालिक राहुल द्वारा मामला दर्ज कराया गया था। इस बीच मंगलवार की रात बाइक सवार तीन बदमाश राहुल को खोजने को उसके घर पर पहुंचे। इसी क्रम में गेट नहीं खोलने पर गार्ड पंकज को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

--------------

Edited By: Jagran