पश्चिम चंपारण, [गौरव वर्मा]। रामनगर प्रखंड क्षेत्र को हरा भरा बनाने की जिम्मेदारी अब जीविका दीदी को मिली है। इसके लिए प्रखंड स्तर पर 32 हजार पौधे लगाने का लक्ष्य मिला है। जीविका सदस्यों को अनिवार्य रूप से अपने घर के आसपास कम से कम दो पौधे लगाने होंगे। स्थानीय स्तर पर पौधे उपलब्ध हों, इसके लिए दीदी की नर्सरी का शुभारंभ किया गया है।

रामनगर प्रखंड के खटौरी पंचायत स्थित बड़ा बेलवा गांव में नर्सरी विकसित हुई है। जिसमें आम, नींबू, अमरूद, जामुन के साथ सागवान समेत अन्य पौधों को तैयार किया जा रहा है। पौधरोपण के लिए इनका वितरण यहीं से होगा। जीविका कार्यालय के सूत्रों की माने तो इसके लिए ड्रॉप प्वाइंट मैनेजर बनाए गए हैं। जो मांग के अनुरूप स्थलों तक पौधों को पहुंचाना सुनिश्चित करेंगे। विश्व पर्यावरण दिवस पर पौधारोपण के साथ इस कार्यक्रम की शुरुआत की गई थी। जो सितंबर तक जारी रहेगा। इसके लिए सभी कार्यकर्ता इस दिशा में अपने मिले कार्यों में जुट गए हैं। यह कार्य प्रखंड के सभी पंचायतों में कराने की योजना है।

पर्यावरण संरक्षण में बढ़ेगा योगदान

बता दें कि प्रखंड में हजारों की संख्या में जीविका से जुड़े कार्यकर्ता काम कर रहे हैं। जो अलग अलग गांवों के हैं। अगर सभी के घरों के आगे दो- दो पौधे लगाए जाते हैं तो, प्रखंड के लगभग सभी गांवों में इस योजना से हरियाली छा जाएगी। जिससे पर्यावरण संरक्षण में खासा योगदान मिलेगा। उल्लेखनीय है कि जीविका की तरफ से बीते वर्ष से ही पौधारोपण कराया जा रहा है। जिसमें अभी तक सैकड़ों की संख्या में पौधे लगाए जा चुके हैं।

--प्रत्येक समूह में जितने भी कार्यकर्ता हैं। सभी के बीच दो- दो पौधे वितरित किए जा रहे हैं। इसमें फलदार, छायादार व लकड़ी वाले पौधे शामिल हैं। अभियान पूरे बरसात के महीने में जारी रहेगा। इसके लिए नर्सरी में पौधे तैयार कराए गए हैं।- रतन प्रिया, प्रखंड परियोजना प्रबंधक जीविका

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप