मुजफ्फरपुर। अहियापुर थाना क्षेत्र के शेखपुर मोहल्ला की 20 वर्षीया छात्रा मोनिका कुमारी ने गुरुवार की शाम अखाड़ाघाट पुल से बूढ़ी गंडक नदी में छलांग लगा दी। वह बीए प्रथम पार्ट की छात्रा थी। छात्रा के स्वजनों ने आरोप लगाया है कि अखाड़ाघाट रोड के एक कोचिग संचालक ने मोबाइल छीनने के बाद उसे धक्का देकर नदी में गिरा दिया। छात्रा उसके कोचिग में पढ़ाई कर रही थी। इसके साथ ही एक पारा मेडिकल संस्थान में वह रिसेप्निस्ट की नौकरी भी कर रही थी। घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने अखाड़ाघाट पुल जाम कर दिया। आक्रोशित लोग कोचिग संचालक को गिरफ्तार करने व छात्रा की तलाश एनडीआरएफ की टीम से कराने की मांग कर रहे थे। पुल जाम की सूचना पर कई थाना की पुलिस वहां पहुंची। रात के लगभग 9.30 बजे एनडीआरएफ की टीम पहुंच कर छात्रा की तलाश में बूढी गंडक नदी में सर्च अभियान शुरू किया। हालांकि अंधेरा होने के कारण छात्रा का पता नहीं चला। इसके बाद जाम समाप्त हुआ। इससे पहले जाम के दौरान शरारती तत्वों ने जमकर उत्पात मचाया। राहगीरों के साथ मारपीट की उनके वाहनों में तोड़फोड़ की। कई के मोबाइल भी झपट लिया।

पुल पर पहुंच छात्रा ने घरवालों को कॉल कर मरने की बताई बात : छात्रा की छोटी बहन ने बताया कि गुरुवार की शाम मोनिका शाम लगभग छह बजे घर आई। घर आने के बाद गले में पहनी दुर्गाजी का माला निकाल कर रख दी और बाहर निकल गई। उन लोगों ने समझा कि बाहर समोसा लाने गई है। लगभग डेढ़ घंटा के बाद उसने घर पर कॉल किया कि वह नदी में कूद कर मरने जा रही है। इस कॉल के बाद उसकी छोटी बहन साइकिल से पुल पर पहुंची। उसने दावा किया कि वहां कोचिग संचालक भी मौजूद था। उसने आरोप लगाया कि जब तक वह नजदीक पहुंचती कोचिग संचालक उसका मोबाइल छीन कर धक्का दे दिया। उसने बताया कि पिछले छह माह से उसकी बड़ी बहन गुमसुम रह रही थी। छात्रा के पिता ने बताया कि शुरू में वे सिकंदरपुर ओपी में गए जहां से उन्हे घटनास्थल अहियापुर थाना क्षेत्र में बताया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि अहियापुर थाना पुलिस कल देखने की बात बताई। पुलिस ने कहा धक्का देने का नहीं मिला साक्ष्य : अहियापुर के प्रभारी थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने बताया कि लड़की स्वयं नदी में कूदी है। उसे किसी ने धक्का दिया हो इसका साक्ष्य अब तक नहीं मिला है। स्थानीय लोगों ने उन्हें बताया कि लड़की चिल्लाते हुए आगे- आगे तेजी से चल रही थी। उसके कुछ स्वजन पीछे-पीछे उसे पकड़ने की कोशिश कर रहे थे। पुल के बीचो-बीच पहुंचते ही उसने नदी में छलांग लगा दी। उन्होंने बताया कि छात्रा की खोज की जा रही है। उसके स्वजनों ने बयान नहीं दिया है। इससे घटना के कारणों का पता नहीं चला है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस