मुजफ्फरपुर [दिनेश राय]। अविभाजित बिहार में खेल के क्षेत्र में दरभंगा का दबदबा था। फिर बदहाली का दौर आया। इधर, अपने दम पर खिलाडिय़ों ने राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं मंb पहचान कायम की है। जूडो-कराटे, कबड्डी, फुटबॉल, एथलेटिक्स, टेबल टेनिस, हैंडबॉल समेत कई अन्य खेलों में सफलता हासिल की है। कई वरीय खिलाड़ी कोच के रूप में प्रशिक्षण दे रहे हैं।

एशियन पैरा गेम्स में मिला गोल्ड

इंडोनेशिया के जकार्ता में आयोजित एशियन पैरा गेम्स 2018 में सिमरी के कंशी निवासी नारायण ठाकुर ने सौ मीटर दौड़ में गोल्ड मेडल जीता। यह पहला मौका था जब बिहार के किसी खिलाड़ी ने यह इतिहास रचा। नारायण बचपन से ही दिव्यांग हैं। उनके जुनून के आगे दिव्यांगता बाधा नहीं बन सकी। उनकी प्रतिभा को तराशने में सूबे के नि:शक्तता आयुक्त डॉ. शिवाजी प्रसाद ने अहम भूमिका निभाई।

राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में शिरकत

महिला कबड्डी में पारूल प्रिया और पुरुष में अमित कुमार चौधरी ने तीन-तीन बार राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में शिरकत की है। इसके अलावा महिला में शिवानी कुमारी, भारती कुमारी, आस्था, रश्मि और सुभाषनी तथा पुरुष वर्ग से गौतम कुमार झा, एस. हसन और सोहन कुमार मिश्रा राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में शामिल हो चुके हैं। अमित कहते हैं, उपलब्धि कड़ी मेहनत का परिणाम है। माता-पिता ने काफी सहयोग किया। पारूल कहती हैं, समाज की दकियानूसी सोच के बावजूद आगे बढ़ी।

हैंडबॉल, खो-खो, एथलेटिक्स एवं साप्ताहिकमें छोड़ी छाप 

राष्ट्रीय स्तर पर हैंडबॉल में निका कुमारी, प्राची कुमारी, मृणालिनी, कमलेश मंडल, राकेश मंडल और भारती कुमारी ने मेडल हासिल किया है। निधि, सोनी, रजनी, पूजा, राधा, मुकेश, मन्नु, ललित और रॉबिन ने राष्ट्रीय स्तर पर खेल में शिरकत की है। नेशनल खो-खो में अरुण पासवान, नेशनल एथलेटिक्स की ऊंची कूद में आकांक्षा ने दरभंगा का वर्चस्व कायम किया। नेशनल साइकिङ्क्षलग में रूपाली कुमारी, सुमन और मनीष ङ्क्षसह माही ने मास स्टार्ट एवं टाइम ट्रायल में उपलब्धि हासिल की है।

एकलव्य आवासीय प्रशिक्षण केंद्र से बढ़ी गतिविधि 

एकलव्य आवासीय खेल प्रशिक्षण केंद्र ने खेलकूद की गतिविधियों को बढ़ावा दिया है। इसकी स्थापना इसी फरवरी में हुई। इसमें मध्य एवं उच्च विद्यालयों के 33 छात्र-छात्राएं बैडङ्क्षमटन व कबड्डी में प्रशिक्षण ले रहे हैं। फुटबॉल में रमेश पंडित और कबड्डी के खिलाडिय़ों को अमित कुमार चौधरी प्रशिक्षण देते हैं। यहां सुबह से शाम तक खिलाड़ी अभ्यास करते दिख जाएंगे। इस बारे में दरभंगा के जिला खेल पदाधिकारी विजय कुमार पंडित ने कहा कि खिलाड़ी कड़ी मेहनत कर रहे हैं। कई खेलोंं में नवोदित खिलाड़ी अभ्यास में जुटे हैं। भविष्य में ये देश-विदेश में नाम रोशन करेंगे।

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप