मुजफ्फरपुर, जेएनएन। औराई प्रखंड के एनएच 77 स्थित जनार व कटौंझा के बीच बागमती नदी की मुख्य धारा से जलबोझी करने गई चार छात्राएं डूब गई। मौके पर मौजूद कांवरियों ने दो को पानी से सुरक्षित निकाल लिया, लेकिन दो को नहीं खोज सके। लापता दोनों छात्राओं की खोज में एएनडीआरएफ की टीम जुटी रही। बताया गया कि कांवरियों समेत अन्य श्रद्धालु भैरवस्थान स्थित बाबा आनंद भैरव व अन्य महादेव मंदिर में जलाभिषेक करने के लिए जलबोझी को वहां पहुंचे थे।

 इसी दौरान चार छात्राएं पानी में डूबने लगीं। शोर पर मौजूद लोगों ने दो को बाहर निकाला, जबकि दो का पता नहीं चल सका। लापता छात्राओं की पहचान बेदौल गांव निवासी संजय महतो की 10 वर्षीय पुत्री विद्या कुमारी व गौरीशंकर महतो की 11 वर्षीय पुत्री गुडिय़ा कुमारी के रूप में हो गई। ग्रामीणों ने बताया कि सावन की सोमवारी को जलबोझी के लिए उक्त घाट पर प्रतिवर्ष भीड़ जुटती है। लेकिन, बचाव एवं सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं होता। घटना के बाद पूरे गांव में कोहराम मच गया।

 ग्रामीणों ने इसकी सूचना सीओ व थानाध्यक्ष को दी। घटना के दो घंटे बाद पहुंची एनडीआरएफ की टीम लगातार बागमती नदी में दोनों की तलाश करती रही, लेकिन देर शाम तक कोई सुराग नहीं मिला। औराई बीडीओ स्वयं बोट में सवार होकर दूर तक तलाशी अभियान में शामिल रहे, लेकिन सफलता नहीं मिली।

डूबने से युवक की मौत

औराई प्रखंड के डीहजीवर पंचायत पंचायत अंतर्गत एकमा गांव से सटे पश्चिमोत्तर मन के समीप बरसात के पानी में डूबने से सोमवार की शाम एक युवक की मौत हो गई। उसकी पहचान डीहजीवर निवासी गोनौर सहनी के 30 वर्षीय पुत्र पच्चू सहनी के रूप में की गई। इस संबंध में मुखिया आशा देवी ने हथौड़ी थानाध्यक्ष एवं सीओ को सूचित कर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की। उन्होंने जिला प्रशासन से मृतक के परिजनों को उचित मुआवजा देने की मांग की है। पच्चू सहनी को चार लड़की व एक लड़का है। पत्नी संगीता देवी का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा है। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप