दरभंगा, जासं। दरभंगा पुलिस ने मोतिहारी जिले में छापेमारी कर बैंक ग्राहक महिला को अगवा कर लूटने वाले गिरोह के पांच बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। इन बदमाशों के पास से लूटी गई 75 हजार रुपये बरामद की गई है। साथ ही घटना में इश्तेमाल की गई हुंडई आई-10 कार, नोट जैसा कागज का बंडल, कैंची सहित पांच मोबाइल को पुलिस ने जब्त की है। गिरफ्तार बदमाशों में मोतिहारी जिले के केसरिया थानाक्षेत्र के चांदपरसा निवासी अमरजीत महतो, अनिल कुमार भगत, सुबोध कुमार सहनी, जितेंद्र प्रसाद और अलमेंद्र कुमार राय शामिल हैं। प्रभारी वरीय पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार प्रसाद ने बताया कि यह गिरोह बैंक के महिला ग्राहकों और वृद्धों को निशाना बनाकर रुपये लूटने का काम करते थे।

31 जनवरी 2021 को ङ्क्षसहवाड़ा और 13 जनवरी 2022 को कमतौल थानाक्षेत्र में घटना को अंजाम देकर फरार हो गए थे। इसके बाद गिरोह के पर्दाफाश के लिए सदर एसडीपीओ कृष्णनंदन कुमार के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई। इसमें तकनीकी सेल को भी लगाया गया। लगातार कई ठिकानों पर छापेमारी की गई। इसमें सभी को एक साथ मोतिहारी के छपवा चौराहे से दबोच लिया गया।

इन लोगों के पास दोनों घटना में लूटी गई गई राशि 75 हजार रुपये बरामद किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जब्त मोबाइलों को खंगाला जा रहा है। पूछताछ में गिरोह का सरगना अमरजीत पाया गया। इस गिरोह में कितने लोग शामिल हैं और कहां-कहां घटना को अंजाम दिए हैं इसे लेकर पूछताछ चल रही है। हालांकि, उन्होंने कहा कि गिरफ्तार बदमाशों के गांव के कई लोगों का नाम सामने आया है दूसरे जिलों में घटना को अंजाम दे रहे हैं। इसमें आगे की कार्रवाई चल रही है।

प्राथमिकी के लिए भटकते रहे पीडि़त, एक में तीन दिन बाद और दूसरे में अब तक दर्ज नहीं हुई शिकायत 

कमतौल थानाक्षेत्र से रतनपुर निवासी राजकुमार ठाकुर की पत्नी रुक्मिणी देवी 13 जनवरी को बैंक आफ इंडिया के ब्रह्मपुर शाखा से 50 हजार रुपये निकासी कर वापस घर जा रही थी। इसी बीच अनजान दो युवक उनसे दो हजार रुपये का खुदरा लिया। महिला आगे बढ़ी । लेकिन, कुछ ही देर बाद बजरंग चौक के पास अचानक महिला के पास एक कार आकर रूकी और उक्त दोनों युवक कार से बाहर निकलते ही महिला को अगवा कर कार में बैठा लिया। मुंह को कपड़ा से बांध दिया।

रास्ते में 50 हजार रुपये और मोबाइल छीनकर सढ़वाड़ा की ओर ले गए और सुनसान जगह महिला को कार से नीचे फेंककर सभी बदमाश फरार हो गए। इस घटना को लेकर जब पीडि़ता थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने गई तो पुलिस को यकीन नहीं हुआ। मामले की जांच करना तो दूर प्राथमिकी दर्ज करना भी मुनासिब नहीं समझा। नतिजा, पीडि़ता को वरीय अधिकारियों से फरियाद करना पड़ा। इसके बाद प्राथमिकी दर्ज हुई और प्रभारी एसएसपी अशोक कुमार प्रसाद ने इस मामले को गंभीरता से लेकर टीम गठित कर दी। नतिजा, सात दिनों के अंदर मामले का पर्दाफाश कर लिया गया।

इसी तरह से इस गिरोह ने 31 दिसंबर 2021 को ङ्क्षसहवाड़ा थानाक्षेत्र के भरवाड़ा स्थित पीएनबी के एक ग्राहक से 25 हजार रुपये लूटकर फरार हो गए थे। लेकिन, इस मामले में आज तक प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है। बताया जाता है कि यह घटना एक व्यवसायी के साथ घटी थी। इस बीच तीन जनवरी को अलीनगर थानाक्षेत्र के अलीनगर पीएनबी शाखा से बाहर स्थानीय निवासी संजीदा खातून को कागज का बंडल थमा कर 18 हजार रुपये लूटकर फरार हो गए थे। इस घटना को भी इसी गिरोह ने अंजाम दिया है। लेकिन, इससे अलीनगर थाने की पुलिस बेफिक्र है।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh