मुजफ्फरपुर, जेएनएन। जिले के पूर्वी व उत्तरी इलाकों के विद्युत पावर सब स्टेशन (पीएसएस) जलमग्न हो गए हैं। इसके कारण कई इलाकों की बिजली आपूर्ति चार-पांच दिनों से बंद है। इससे बच्चों की पढ़ाई बाधित होने के साथ कई तरह की परेशानियां उत्पन्न हो गई हैं। मैठी विद्युत पावर सब स्टेशन में बाढ़ का पानी घुसने से मैठी-ढोली फीडर के अलावा अन्य दूसरे फीडरों की भी बिजली आपूर्ति बंद है। ऑपरेटर के कमरे तक कमर भर पानी भरा हुआ है। ट्रांसफॉर्मरों तक लबालब पानी है।

 बिजली के खंभे बाढ़ के पानी से घिरे हुए हैं। ऐसे में उन इलाकों में बिजली देना संभव नहीं है। मैठी के ग्रामीण संजय कुमार ने बताया कि पिछले चार-पांच दिनों से बिजली नहीं रहने से अंधेरे में सांप बिच्छू जैसे जहरीले कीड़ों का भय बना हुआ है। मोबाइल तक रिचार्ज नहीं हो पा रहा। जेनरेटर वाले 20 रुपये लेकर मोबाइल चार्ज कर रहे हैं। 

मेले को लेकर चला मरम्मत कार्य

श्रावणी मेले को लेकर रविवार को शहरी क्षेत्र के टाउन-1 फीडर में अपराह्न एक बजे से मरम्मत का काम किया गया। रामदयालु कॉलेज के अंदर जहां कांवरिया शिविर लगया जाता है, वहां पेड़ों की डाल की छंटाई की गई। लूज तारों को सेपरेटर लगाकर टाइट किया गया। इसके अलावा शहर के अन्य इलाकों में बिजली के खंभों में प्लास्टिक शीट लगाई गई। इसके कारण शहर के विभिन्न इलाकों में चार से पांच घंटे बिजली बाधित रही। ब्रह्मपुरा में दिनभर बिजली की आंख-मिचौनी चलती रही तो अहियापुर में रात को ठनका गिरने से चाणक्यपुरी मोहल्ले में 11 केवीए का तार टूटने से पूरी रात बिजली बाधित रही। कुढऩी प्रखंड के सिलौत माड़ीपुर, माधोपुर सहित कई इलाकों की बिजली 20 घंटे गुल रही।

 इधर, एसकेएमसीएच मीनापुर फीडर का भी वही हाल बना हुआ है। इस इलाके में पांच दिनों से विद्युत संकट है। लाइन होल्ड ही नहीं कर रहा। एक विद्युतकर्मी ने बताया कि जगह-जगह पानी भरने से लाइनमैन को काम करने में परेशानी हो रही है। मरम्मत के लिए लाइनमैन को पानी में दूर तक जाना पड़ता है। लाइन ऑन करते ही फ्यूज उड़ जा रहा है। शुक्रवार दोपहर में दस मिनट के लिए बिजली आई, शनिवार की सुबह भी दस मिनट से ज्यादा नहीं रह पाई।

सुस्ता फीडर में चार दिनों बाद आई बिजली

सकरा विद्युत सब स्टेशन एरिया के सुस्ता फीडर में चार दिनों के बाद रविवार को बिजली के दर्शन हुए। रविवार की शाम साढ़े चार बजे बिजली आने से लोग ऊर्जावान महसूस करने लगे। कई दिनों से बिजली नहीं रहने के कारण बच्चों की पढ़ाई बाधित होने के साथ लोगों के मोबाइल तक रिचार्ज नहीं हो पा रहे थे।  

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप