मुजफ्फरपुर, जासं। सदर थाना के कच्ची-पक्की में इंजीनियर को गोली मारने के मामले में शामिल बेगूसराय के कोहिनूर गिरोह के गुर्गे पर नकेल कसने की कवायद तेज कर दी गई है। इसी कड़ी में शुक्रवार की रात शहर के कई जगहों पर छापेमारी की गई। मगर किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी। बता दें कि गत सप्ताह सदर थाना के कच्ची-पक्की में किराना दुकान पर बैठे इंजीनियर आशीष को गोली मारकर घायल कर दिया गया था। बदमाशों द्वारा उनके दुकान में लूटपाट भी की गई थी। कहा जा रहा कि लूट का विरोध करने पर ही बदमाशों द्वारा गोली चलाई गई थी। सीसीटीवी फुटेज में अपराधियों का कारनामा कैद है।

हालांकि मौके से भीड़ के द्वारा एक आरोपित को दबोच लिया गया था। उसके पूछताछ में ही पता चला कि ये सभी बदमाश बेगूसराय का रहने वाला है। ये सभी हाइवे पर दुकानदारों से मौका मिलते ही लूटपाट करते है। विरोध करने पर गोली मार देते है। अगर आरोपित मौके से नहीं पकड़ता तो पुलिस अंधेरे में तीर चलाती रहती। मगर उसके पकड़ाने के बाद पता चला कि ये सभी अपराधी बेगूसराय के है। इसमें बेगूसराय का आसिफ कुख्यात अपराधी शामिल है। वह कोहिनूर गिरोह का सरगना है। उसके गिरोह में आफताब, अमन समेत कई शामिल है।

सदर पुलिस ने बेगूसराय की टीम से संपर्क कर इन सभी का रिकार्ड खंगाला। इसमें पता चला कि ये सभी लूटपाट करने वाले गिरोह से जुड़े है। पूर्व में भी कई घटनाओं में इन सभी की संलिप्तता सामने आई है। जिले के विभिन्न इलाकों में उसके गिरोह से जुड़े गुर्गे रहते है। वे सभी यहां पर उनसे मिलने को ही आए थे। शहर में सक्रिय उसके गिरोह से जुड़े अन्य अपराधियों के ठिकाने पर कार्रवाई की गई। मगर सभी फरार मिले। दूसरी टीम इस गिरोह से जुड़े गुर्गे की तलाश में बेगूसराय, सीतामढ़ी समेत कई जगहों पर भी छापेमारी कर रही है। वहीं मौके से पकड़ा गया आरोपित अमन के विरुद्ध पुलिस के बयान पर अलग से और एक प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेजा जा चुका है।