पूर्वी चंपारण, जेएनएन। पटना से आई प्रवर्तन निदेशालय की पांच सदस्यीय टीम ने मंगलवार को जिला मुख्यालय और चिरैया में एक सेवानिवृत्त कार्यपालक अभियंता की अचल संपत्तियां जब्त की। यह कार्रवाई मोतिहारी के बरियारपुर, हवाई अड्डा मोहल्ला और चिरैया थाना क्षेत्र के महुआवा गांव में की गई। 

महुआवा के स्थायी निवासी पीएचईडी के सेवानिवृत्त कार्यपालक अभियंता रामाधार राम के खिलाफ निदेशालय में आय से अधिक का मामला चल रहा था। इस आलोक में यह कार्रवाई की गई। टीम ने चिरैया में सेवानिवृत्त कार्यपालक अभियंता के कुल आठ प्लॉट को जब्त किया। वहीं, मोतिहारी में शाम तक कार्रवाई चल रही थी। ईडी ने चिरैया में उक्त प्लॉट पर जब्ती की तख्ती भी लगा दी है। प्रवर्तन निदेशालय के सहायक निदेशक ने बताया कि रामाधार राम के विरुद्ध पूर्व से ही आय से अधिक संपत्ति मामले में नई दिल्ली में केस चल रहा था।

 कोर्ट के निर्देश पर धनशोधन निवारण अधिनियम के तहत इंजीनियर की संपत्ति जब्त की जा रही है। जब्त आठ प्लॉट की कीमत लगभग 88 लाख बताई गई। सहायक निदेशक ने कहा कि मोतिहारी के बरियारपुर बिरसानगर स्थित भूखंड को भी जब्त कर लिया गया है। जब्त भूखंड पर सरकार का पूर्णत: अधिकार होगा। वहीं, चिरैया सीओ सचिंद्र कुमार ने भी ईडी द्वारा आठ प्लॉट जब्त करने की बात कही। ईडी की टीम के साथ अंचलाधिकारी, अंचल निरीक्षक बासुदेव राम व राजस्व कर्मचारी थे। सुरक्षा के लिए चिरैया थानाध्यक्ष रामबाबू प्रसाद व छतानी थाने की पुलिस मुस्तैद रही। 

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप