मुजफ्फरपुर, जेएनएन। आज वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने देश का  केंद्रीय बजट पेश किया। वित्तिय वर्ष 2020-2021 के इस बजट में कई बड़ी घोषणाएं की गईं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में इनकम टैक्स को लेकर बड़ी घोषणा की है। इनकम टैक्स स्लैब में बदलाव किया है, महिलाओं के लिए 28,600 करोड़, स्वच्छ हवा के लिए 4400 करोड़ रुपये का आवंटन किया। बजट के भाषण के दौरान शहर में लोगा टीवी से चिपके रहें। इसको अर्थशास्‍त्रियों ने इस नजरिए से देखा...

बजट 2020 पर अर्थशास्त्रियों की राय 

एमडीडीएम कॉलेज के अर्थशास्त्र विभाग की प्राध्यापक डॉ.चंचला चरण ने कहा कि यह बजट विकास और अर्थव्यवस्था को तेजी प्रदान करने वाला है। मंदी की स्थिति को ध्यान में रखते हुए यह बजट लाया गया है। इसमें आम लोगों के हाथों में व्यय योग्य आय को ज्यादा देने की कोशिश की गई है। बेटियों के लिए बजट में विशेष स्थान दिया गया है जो सराहनीय है। बेटियां इससे निखरेगीं और देश के विकास में भागीदार बनेंगी। साथ ही केंद्रीय विश्वविद्यालय और केंद्रीय विद्यालय को बढ़ाने की बात शिक्षा जगत के लिए बेहतर कदम है। 

 वहीं एमडीडीएम कॉलेज अर्थशास्त्र विभाग की प्राध्यापक डॉ.रोजी सुलोचना ने बताया कि इस बजट से एजुकेशन के क्षेत्र में नई क्रांति आएगी। हायर एजुकेशन की ओर ध्यान आकृष्ट कराने को लेकर पहल की गई है। इसमें नीचे से लेकर ऊपर सभी तबके के लोगों को एक समान नजरिए से देखा गया है। मध्यमवर्गीय लोगों के लिए यह बजट काफी रोचक है। टैक्स रेट कम होने के कारण यह आम लोगों के लिए लाभप्रद है। इस बजट से देश की अर्थव्यवस्था और जीडीपी विकसित होगी। कुल मिलाकर यह बजट आम लोगों को सुकून देने वाला है। 

Posted By: Murari Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस