मुजफ्फरपुर : भारी बारिश के कारण नदियों के जलस्तर में वृद्धि को देखते हुए डीएम प्रणव कुमार ने शुक्रवार को पारू और साहेबगंज अंचल के अंतर्गत गंडक नदी के तटबंधों का निरीक्षण किया। इसके अलावा साहेबगंज प्रखंड मुख्यालय में पदाधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें पारू एवं साहेबगंज अंचल में संभावित बाढ़ की स्थिति की जानकारी ली। डीएम ने निर्देश दिया कि पानी से घिरे गांव में प्रत्येक वार्ड में एक-एक नाव की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। तटबंध पर शरण लिए हुए परिवारों को पालीथिन शीट उपलब्ध कराने का निर्देश अंचलाधिकारियों को दिया। दोनों कार्यपालक अभियंता को लगातार तटबंध की निगरानी करने तथा संवेदनशील बिदुओं की मरम्मत करने को कहा। क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत करने का निर्देश सहायक अभियंता ग्रामीण कार्य प्रमंडल पश्चिमी को दिया गया।

स्थिति नियंत्रण में, अफवाह से बचें

कार्यपालक अभियंता, गंडक परियोजना ने जानकारी दी कि नेपाल से पानी छोड़ने के कारण गंडक नदी के जलस्तर में वृद्धि हुई है। उन्होंने बताया कि आज अधिकतम रिचार्ज की स्थिति है। रात्रि के बाद पानी धीरे धीरे वापस होगा। तीन से चार दिनों में स्थिति सामान्य हो जाएगी। डीएम ने लोगों से अपील की है कि वे घबराएं नहीं। स्थिति नियंत्रण में है। प्रशासन लगातार हालात पर नजर रख रहा है। उन्होंने लोगों को अफवाहों से बचने को कहा।

इससे पहले डीएम ने पारू अंचल के फतेहाबाद, बैजलपुर कल्याण रिग बांध, उस्ती, सिगयाहि, चक देवरिया, माधवपुर बुजुर्ग, धरफरी, चांदकेवारी एवं सोहांसी और साहेबगंज अंचल के पचरुखिया, दोबंधा, रूप छपरा, पंचगछिया, बंगरा निजामत, देवसर असली, बासुदेवपुर सराय, माधोपुर हजारी आदि से संबंधित तटबंधों का निरीक्षण किया। इस दौरान अपर समाहर्ता, आपदा प्रबंधन डा. अजय कुमार, सहायक समाहर्ता श्रेष्ठ अनुपम, एसडीओ पश्चिमी डा. एके दास, डीपीआरओ कमल सिंह, कार्यपालक अभियंता जल निस्सरण मुजफ्फरपुर, कार्यपालक अभियंता गंडक परियोजना, बीडीओ, सीओ समेत स्थानीय जनप्रतिनिधि मौजूद थे। साहेबगंज में हलीमपुर के मुखिया पुत्र सुबोध यादव ने देवसर स्लूस गेट के पास नवनिíमत बाध किनारे मिट्टी की बोरी रखवाने की माग की। कहा कि इस कार्य को समय रहते नहीं कराया गया तो 7-8 पंचायतें बाढ़ की चपेट में आ जाएंगी। डीएम से इस कार्य को जल्द पूरा कराने का आश्वासन दिया। इधर, पारू की उस्ती पंचायत की मुखिया मंजू देवी व चांदकेवारी की मुखिया गुड़िया कुमारी ने डीएम को प्रभावित लोगों की समस्याएं बताई। डीएम ने शौचालय निर्माण, पालीथिन वितरण व नाव की व्यवस्था करने का अधिकारियों को निर्देश दिया।

Edited By: Jagran