मुजफ्फरपुर। किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए जिले में बुधवार को डायल नंबर-112 की सेवा शुरू की गई है। इस नंबर पर डायल करने पर पुलिस, फायर ब्रिगेड व एंबुलेंस जैसी महत्वपूर्ण सेवाएं अतिशीघ्र उपलब्ध कराई जाएंगी। इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम (ईआरएसएस) योजना के तहत बुधवार को बैरिया स्थित पुलिस लाइन में एक समारोह में वरीय पुलिस अधीक्षक जयंतकांत ने इसकी 22 गाड़ियों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ये गाड़ियां जिले के थाना पुलिस को उपलब्ध कराई गई है।

सभी गाड़ियां ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) से जुड़ी हैं। इससे काल करने वाले का लोकेशन भी कमांड सेंटर को मिल जाएगा। इससे काल को रिस्पांस लेने में कम समय लगेगा। इसके लिए वाहन चालक से लेकर इस पर तैनात पुलिस कर्मियों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया है। इस सेवा के शुरू होने से किसी भी घटना के बाद पुलिस के देरी से पहुंचने की आम शिकायत दूर हो जाएगी।

ऐसे काम करेगा इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम : आपातकालीन स्थिति में सहायता के लिए 112 नंबर डायल करने पर पटना में बने कंट्रोल रूम में यह काल अटेंड होगा। जहां से सहायता मांगने वाले का नाम, पता, मोबाइल नंबर जिला मुख्यालय में बने कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराया जाएगा। वहां से इमरजेंसी रिस्पांस वाहन में बैठे पुलिस कर्मियों को सहायता मांगने वाले के नाम,पता के साथ लोकेशन मिल जाएगा। इस लोकेशन के आधार पर 10 से 20 मिनट के अंदर उन्हें सहायता पहुंचाई जा सकेगी। यह सहायता सप्ताह के सातों दिन व 24 घंटे उपलब्ध होगी। एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि ईआरएसएस योजना के तहत जिले को 22 गाड़ियां मिली है। ये गाड़ियां थानों को उपलब्ध कराई गई हैं। आपातकालीन स्थिति में कोई भी व्यक्ति 112 नंबर पर काल कर इसकी सहायता ले सकता है।

Edited By: Jagran