मुजफ्फरपुर, जेएनएन। डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि अपराध नियंत्रण को लेकर गोपनीय रणनीति तैयार की गई है। 30 दिनों के अंदर इसके अच्छे नतीजे देखने को मिलेंगे। वे चंपारण का दौरा करने के बाद रविवार को मुजफ्फरपुर एसएसपी कार्यालय में पुलिस अधिकारियों संग बैठक के बाद मीडिया से मुखातिब थे। करीब एक घंटे चली बैठक में अपराध नियंत्रण को लेकर रेंज आइजी, एसएसपी समेत सभी पदाधिकारियों को विशेष निर्देश दिए गए हैं। इस बारे में अभी विशेष जानकारी देने से इन्कार करते हुए कहा कि तीस दिनों के भीतर सब कुछ दिखने लगेगा।
 बैठक में रेंज आइजी गणेश कुमार, एसएसपी मनोज कुमार, सिटी एसपी नीरज कुमार सिंह, एएसपी अभियान, सभी डीएसपी और जिले के अधिकतर थानाध्यक्ष उपस्थित थे। डीजीपी ने मुहर्रम एवं अन्य त्योहार शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न होने को लेकर सभी पदाधिकारियों को बधाई देकर मनोबल बढ़ाया। साथ ही दुर्गा पूजा में विधि व्यवस्था को लेकर अभी से कमर कस लेने को कहा। कहा कि थानाध्यक्ष के साथ सभी पदाधिकारी जिम्मेवारी लेकर बेहतर काम करें।
पहले थानाध्यक्ष फिर डीएसपी के साथ की बैठक
डीजीपी ने सबसे पहले जिले के सभी थानाध्यक्षों के साथ बैठक की। इस दौरान अपराध नियंत्रण को लेकर कई बिंदुओं पर निर्देश दिए। हाल की चर्चित आपराधिक घटनाओं की समीक्षा कर थानाध्यक्षों को आगे की कार्रवाई के बारे में बताया। कुर्की व वारंट के निष्पादन पर जोर दिया। फरार आरोपितों को हर हाल में गिरफ्तार कर जेल भेजने का निर्देश दिया। जमानत पर बाहर निकले अपराधियों की गतिविधि पर नजर रखते हुए निगरानी करने को कहा।

पुलिस अफसरों ने बखूबी निभाई जिम्मेवारी
डीजीपी ने कहा कि, मुझे अभी छह माह हुआ है, ये सातवां महीना चल रहा है। इस बीच होली, चुनाव, रामनवमी, गणेश चतुर्थी और मुहर्रम पर्व बीते। सभी त्योहार शांतिपूर्ण ढंग से हुआ। जिले में कहीं से तनाव की खबर नहीं मिली। जबकि उक्त पर्व सांप्रदायिक दृष्टिकोण से अत्यंत संवदेनशील थे। लेकिन, पुलिस अफसरों ने बखूबी अपनी जिम्मेवारी निभाई है। इसके लिए सभी बधाई के पात्र हैं।
सौहार्द बनाए रखने की अपील की
डीजीपी ने जिले के लोगों से अपील करते हुए कहा कि सौहार्द बनाए रखें। जिस तरह सभी त्योहार शांतिपूर्ण तरीके से बीते हैं, उसी तरह दुर्गा पूजा भी मनाएं। एक दूसरे के साथ सद्भावना बनाए रखें। एक दूसरे के त्योहारों में भागीदार बनें। राज्य में दुर्गा पूजा भी शांतिपूर्ण तरीके से हो, ताकि पूरे देश में बिहार का नाम हो। इसके पूर्व डीजीपी के पहुंचने का पता लगते ही एसएसपी ऑफिस में तैयारी पूरी कर ली गई थी। एसएसपी ऑफिस में उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस