सीतामढ़ी, जासं। रेलवे बोर्ड के द्वारा जारी आरआरबी एनटीपीसी रिजल्ट में गड़बड़ी के आरोप को लेकर सीतामढ़ी में छात्राें ने जमकर बवाल काटा। पुलिस ने जोर-जबरदस्ती करने का प्रयास किया तो छात्र बेकाबू हो गए। दोनों तरफ से भिड़ंत हो गई। छात्रों की ओर से रोड़ेबाजी हुई। कई छात्र, पुलिसकर्मी, डुमरा सीओ और कुछ मीडियाकर्मी भी जख्मी हो गए। उग्र भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस ने हवा में गोलियां दागी। जिससे तनातनी और बढ़ गई। रेलवे स्टेशन का इलाका पुलिस छावनी में तब्दील है।

इस बवाल में दोनों तरफ से कितने लोग जख्मी हैं और पुलिस ने बचाव में कितने राउंड फायरिंग की है इसके बारे में आधिकारिक तौर पर अभी कुछ नहीं का गया है। इससे पहले सीतामढ़ी रेलवे स्टेशन पर सैकड़ों की तदाद में छात्रों ने प्रदर्शन किया। रेलवे स्टेशन के ठीक पास मेहसौल रेलवे फाटक पर छात्रों का हुजूम डटा रहा। इस दौरान सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते रहे। छात्रों के उग्र प्रदर्शन से कई ट्रेनें भी प्रभावित हुईं। रेलवे फाटक की दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लगी रही जिससे राहगीर मुश्किल में फंसे रहे। छात्रों के धरना-प्रदर्शन की सूचना मिलते ही राजकीय रेल पुलिस व रेलवे सुरक्षा बल के अलावा नजदीकी मेहसौल ओपी समेत नगर थाने की पुलिस दलबल के साथ पहुंची। छात्रों को समझाने का प्रयास किया।

घंटों तक चले गतिरोध के बावजूद छात्र छात्रों का हुजूम ट्रैक से टस से मस नहीं हो सका। प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना है कि आरआरबी ने जिन पदों के लिए नोटिफिकेशन जारी किया था, उनमें सीनियर टाइम कीपर, कमर्शियल अप्रेंटिस, स्टेशन मास्टर, ट्रैफिक असिस्टेंट, सीनियर कमर्शियल कम टिकट क्लर्क, गुड्स गार्ड, जूनियर क्लर्क कम टाइपिस्ट समेत 13 पद शामिल हैं, जिनके लिए लेवल के आधार पर रिजल्ट जारी किया गया है। मगर, रिजल्ट में धांधली बरती गई है। बताते चलें कि रिजल्ट में धांधली की शिकायत को लेकर सूबे के दूसरे जिलों में भी लगातार प्रदर्शन का दौर जारी है। युवाओं और छात्रों के द्वारा ट्रेनें रोके जाने और रेलवे पटरियों को जाम करने की घटनाएं सामने आई हैं। बताते चलें कि रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की ओर से नॉन टेक्नीकल पॉपुलर कैटेगरी (एनटीपीसी) भर्ती सीबीटी-1 परीक्षा के रिजल्ट 14 व 15 जनवरी, 2022 को जारी किए गए थे। परीक्षा में लगभग एक करोड़ से ज्यादा उम्मीदवार पंजीकृत हैं। इस परिणाम के आधार पर सीबीटी-2 यानी दूसरे चरण की परीक्षा के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया जाना है। उम्मीदवारों ने आरोप लगाया है कि आरआरबी एनटीपीसी परिणाम में धांधली हुई है।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh