मोतिहारी [सुशील वर्मा]। सूबे में शराबबंदी कानून लागू होने के बाद भी शराब के अवैध शराब कारोबारी शराब के शौकीन लोगों तक शराब 'डिलेवरी ब्वॉयÓ के जरिए पहुंचा रहे हैं। दोगुनी कीमत वसूल की जा रही है। जिले में शराब माफियाओं का मजबूत नेटवर्क काम कर रहा है। ऐसे में उत्पाद व मद्य निषेध विभाग ने अवैध धंधे के नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए आक्रामक योजना बनाई है। इसके तहत जिलों में खास तौर पर प्रशिक्षित खोजी कुत्ते तैनात किए जाएंगे।

  'डिलेवरी ब्वॉयÓ को फालो किया जाएगा और फिर कारोबारियों पर जोर का हमला पूरी तैयारी के साथ विभाग करेगा। ताकि, जिले से शराब पूरे तौर पर समाप्त हो जाए। बताया गया है कि विभाग की ओर से गया में खोजी कुत्तों की तैनाती की गई है। यहां के बाद अब सूबे के अन्य जिलों में भी यह प्रयोग किया जाना है। इस दायरे में पूर्वी चंपारण जिले को भी रखा गया है। विभागीय स्तर पर जिले की टीम को अपडेट करने की यह कवायद समय रहते पूरी कर ली जाएगी।

चंद पैसों की लालच में शराब के अवैध धंधे में फंसे युवा व किशोर बनेंगे 'हथियारÓ

बताते हैं कि शराब के अवैध कारोबारियों ने आसानी से अपने कारोबार को बढ़ाने और खुद को कार्रवाई से बचाने के लिए नया तरीका तलाशा है। इस धंधे से वैसे युवा और किशोरों को जोड़ दिया है जो बेरोजगार हैं और जिनमें समय से पहले बड़ा आदमी बनने की भूख है। कारोबारियों ने ऐसे युवाओं को व्यवसाय के हिसाब से बाइक तक दे दी है। शराब की डिमांड होती है और ये युवा बाइक से शराब संबंधित प्वाइंट पर पहुंचाते हैं।

 माध्यम होता है सेलफोन। मतलब कारोबार की एक अहम कड़ी आदमी के साथ सेलफोन है। अब उत्पाद अधिकारी जिला स्तर पर ऐसे लड़कों को चिह्नित करेंगे और उनकी एक सूची तैयार करेंगे। बकायदा नाम और नंबर के हिसाब से। फिर इन लड़कों को फालो किया जाएगा और सर्विलांस के जरिए शराब के शौकीन और कारोबारियों तक टीम पहुंचेगी।

   इस बारे में तिरहुत प्रमंडल मद्य निषेध उप आयुक्त चंद्रमोहन शाही ने कहा‍ कि जिले में खोजी कुत्तों के तैनाती की प्रक्रिया की जा रही है। गया में तैनाती हो चुकी है। शेष जिलों में भी समय रहते तैनाती कर दी जाएगी। 'डिलेवरी ब्वॉयÓ पर नजर है। जल्द ही उनकी भी कुंडली तैयार होगी और उस आधार पर टीम शराब के नेटवर्क को पूरे तौर पर ध्वस्त कर देगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ajit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस