मुजफ्फरपुर : सिवाईपट्टी थाना क्षेत्र के सगहरी गांव में शुक्रवार की देर रात करीब ढाई बजे प्रतिमा विसर्जन जुलूस के दौरान 11 हजार वोल्ट तार के संपर्क में आने से अधेड़ की मौत हो गई। दो बच्चे झुलस कर जख्मी हो गए। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया। जख्मी बच्चों का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है। मृतक की पहचान सगहरी निवासी 55 वर्षीय रामविनोद राय के रूप में की गई है। जख्मी बच्चे संजय राय के पुत्र अमन व शुभम कुमार बताए गए हैं। पुलिस के अनुसार, जख्मी दोनों बच्चे मृतक के भाई का पोता है।

जानकारी के अनुसार सगहरी गांव के लोग पुलिस और बिजली विभाग को बिना सूचना दिए रात करीब ढाई बजे ट्रैक्टर पर प्रतिमा रखकर विसर्जन को निकल पड़े। प्रतिमा के साथ बांस अधिक हाइट में होने के कारण 11 हजार वोल्ट के बिजली तार से टकरा गया। इस कारण राम विनोद राय की मौत करंट की चपेट में आने से हो गई। दोनों बच्चे सहित अन्य लोगों भी करंट की चपेट में आए, लेकिन सभी जान बचाने के लिए ट्रैक्टर से कूद गए। इस कारण अन्य लोग करंट खाने से बच गए। बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता मनोज कुमार जायसवाल ने कहा कि बिजली तार का हाइट 12 फीट है। ये लोग प्रतिमा विसर्जन जुलूस में बिजली तार को नहीं देखे, उस वक्त लाइन चालू था। उन्होंने विद्युत एसडीओ प्रभात कुमार को जांच का आदेश दिया है।

पहले भी करंट से ट्रक और ट्रैक्टर चालक की हो चुकी मौत

तीन महीने पहले भी एक तार नीचे होने के कारण सिवाईपट्टी इलाके में 11 हजार वोल्ट तार से टकराने के कारण एक ट्रक में आग लगने से चालक की मौत हो गई थी और खलासी बुरी तरह जख्मी हो गया था। दूसरी घटना भी उसी के आसपास हुई, एक ट्रैक्टर में तार सटने से चालक की मौत हो गई थी। बावजूद इसके बिजली विभाग सतर्कता नहीं बरत रहा। विद्युत एसडीओ का कहना है कि प्रतिमा विसर्जन के दौरान फोन से जानकारी देने पर लाइन बंद कर दिया जाता है। अब कोई आधी रात को प्रतिमा विसर्जन के लिए निकलेगा तो गर्मी में इतनी देर तक बिजली बंद नहीं रखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रतिमा विसर्जन या अन्य कोई जुलूस निकलने पर विभाग को अगर जानकारी मिलती है तो जुलूस के समय तक बिजली बंद कर दी जाती है ताकि किसी अप्रिय घटना से बचा जा सके।

Edited By: Jagran