मुजफ्फरपुर। सरैया थाना क्षेत्र के एक गांव में बहन की अश्लील फोटो इंटरनेट पर वायरल करने का विरोध भाई को जान देकर चुकाना पड़ा। पिटाई के बाद उसकी मौत होने पर स्वजन ने आरोपित के घर पर शव रखकर हंगामा किया। पुलिस ने किसी तरह आक्रोशित लोगों को समझाकर शांत कराया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

बताते हैं कि चार अप्रैल को आरोपित ने एक लड़की की अश्लील फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया था। इस पर लड़की के स्वजन आरोपित के घर पर पूछताछ करने गए तो मारपीट की गई। वहीं, इसी मामले को लेकर 21 अप्रैल की रात फिर मारपीट की गई। आरोपित रंजीत कुमार, सकलदीप दास, चंद्रदीप दास, संदीप दास, नरेश दास सहित दर्जनभर लोगों ने घर पर हमला कर लड़की के अपहरण प्रयास किया। इस दौरान उसके भाई की बेरहमी से पिटाई कर दी। उसके माथे पर पेचकस से हमला कर आख को फोड़ दिया था। साथ ही उसके माता-पिता की भी पिटाई की गई थी। थाने में दर्जनभर लोगों को आरोपित करते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। बताते हैं कि कुछ दिनों तक घायल भाई का शहर के एक निजी अस्पताल में इलाज चला। इसके बाद वह घर आ गया था। शनिवार को अचानक उसकी तबीयत बिगड़ने पर स्वजन उसे चिकित्सक के पास ले जा रहे थे तभी रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। इससे आक्रोशित स्वजन शव को लेकर सीधे आरोपित के दरवाजे पर पहुंचे और हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर थानाध्यक्ष जय प्रकाश सिंह पहुंचे और लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वे नहीं माने। वे आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। बाद में एसडीपीओ सरैया राजेश कुमार शर्मा मौके पर पहुंचे और आक्रोशित स्वजन से बात की। उन्होंने शीघ्र आरोपितों को गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। इस पर सभी शांत हुए और पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

Edited By: Jagran