मुजफ्फरपुर, जेएनएन। भीषण गर्मी और उमस में कमी आने से एईएस (एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम) का कहर थमा है। बुधवार को केजरीवाल अस्पताल में एक बच्ची की मौत हो गई, जबकि एसकेएमसीएच में दो बच्चों को भर्ती कराया गया। मृतक की पहचान कांटी, पानापुर के मो. शहजाद की पुत्री गुलाबसा खातून के रूप में हुई है। वहीं, पीडि़तों में करजा की सलोनी कुमारी और मोतिहारी राजेपुर का सुधांशु कुमार हैं। इस मौसम केजरीवाल और एसकेएमसीएच मिलाकर 145 बच्चों की मौत हो चुकी है, जबकि 543 को भर्ती कराया गया है।

37 बच्चे इलाज को पहुंचे

एसकेएमसीएच में बुधवार को 37 बच्चों को भर्ती कराया गया। इतने बच्चों के आने से अस्पताल में अफरा-तफरी का माहौल हो गया। लेकिन, जांच के दौरान सिर्फ दो में एईएस का मामला सामने आया। 35 विभिन्न बीमारियों से पीडि़त थे। अस्पताल अधीक्षक डॉ. एसके शाही ने बताया कि फिलहाल पीआइसीयू में एईएस से पीडि़त 22 बच्चों का इलाज चल रहा। अस्पताल के दस्तावेज के अनुसार अब तक एईएस से पीडि़त 438 बच्चे इलाज के लिए पहुंचे हैं। इनमें 293 बच्चों को स्वस्थ होने के पश्चात छुट्टी दी जा चुकी है। कई बिना बताए बच्चे को कहीं ओर लेकर चले गए।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस