मुजफ्फरपुर, जेएनएन। अहियापुर थानाक्षेत्र के कोल्हुआ ब्रह्मस्थान के पास शनिवार को एक बोरे में बंद नौ साल के मासूम बच्ची की लाश मिली। पुलिस ने लाश की पहचान के बाद पोस्टमार्टम कराया है। आशंका जताई जा रही है कि दुष्कर्म बाद बच्ची की हत्या कर लाश को फेंक दिया गया। बच्ची अपने ननिहाल में रहती थी। उसकी नानी ने पहचान की। वह शुक्रवार से लापता थी।

 परिजनों ने बताया कि बच्ची के लापता होने के बाद स्वजनों ने माइकिंग कराई। लेकिन, उसका कहीं सुराग नहीं मिला था। इस बीच शनिवार को लाश मिली। वरीय पुलिस अधीक्षक जयंत कांत ने बताया कि बच्ची के मुंह से झाग निकला था। उसके कपड़े सुरक्षित मिले है। ऐसे जहर देने की भी आशंका है। सभी पहलुओं की जांच कराई जा रही है। 

25 नवंबर से घर में नहीं थे स्वजन, लौटे तो घर में नहीं मिली बच्ची 

बताया गया है कि मासूम के ननिहाल वाले 25 नवंबर को एक शादी में छपरा गए थे। शुक्रवार को लौटे तो बच्ची घर में नहीं थी। थानाध्यक्ष विकास कुमार राय ने बताया कि लड़की के नाना के बयान पर मामला दर्ज किया गया है। बच्ची के नाना मूल रूप से छपरा के निवासी हैैं। वर्तमान में वे कांटी रह रहे थे। 

मेडिकल बोर्ड ने किया पोस्टमार्टम 

बच्ची के शव का पोस्टमार्टम एफएमटी विभाग के डॉ. संतोष कुमार की अध्यक्षता में गठित तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड ने किया। बच्ची के गर्दन को दबाने का चिह्न और उसके मुंह से झाग निकला पाया गया है। दुष्कर्म व अन्य पहलुओं की जानकारी के लिए बेसरा सुरक्षित किया गया है। पैथोलॉजिकल जांच के बाद वस्तु स्थिति साफ होगी। 

 इस बारे में मुजफ्फरपुर एसएसपी जयंतकांत ने कहा कि 'बच्ची के शरीर पर कोई बाहरी जख्म नहीं पाया गया है। बच्ची के लापता होने के चौबीस घंटे बाद भी पुलिस को सूचना नहीं देना संदेह पैदा करता है। बच्ची के मुंह से झाग निकला था। पोस्टमार्टम कराया गया है। बेसरा सुरक्षित कर लिया गया है। मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद वस्तु स्थिति साफ होगी।Ó

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस