मुजफ्फरपुर : सकरा में बंधन बैंक से लाखों की लूट मामले में एसटीएफ पटना की टीम ने महकमे की लाज बचा ली। कंकड़बाग थाना क्षेत्र से चार लुटेरों को हथियार व लूट की रकम के साथ पकड़ा गया था। अब सकरा थाने की पुलिस इन लुटेरों को अपने केस में रिमांड करेगी। इसके लिए शीघ्र ही पटना कोर्ट में अर्जी दी जाएगी। डीएसपी पूर्वी मनोज पांडेय ने थानाध्यक्ष को निर्देश दिया है। इसमें कोर्ट में रिमांड पर लेने के लिए शीघ्र अर्जी देने को कहा है। डीएसपी के निर्देश के बाद सकरा पुलिस इसकी कवायद में जुट गई है।

लूट के दौरान चोरी की बाइक का किया उपयोग : बैंक लूट के बाद घटनास्थल पर छूटी बाइक की जांच में पता चला कि वह चोरी की है। इसके लिए डीटीओ से संपर्क किया गया था। इसमें पता चला कि उक्त बाइक एक पखवारा पूर्व चोरी की गई थी।

लुटेरों से पूछताछ पर छह दबोचे गए : जेल भेजे जाने से पहले जिला पुलिस की टीम ने पटना पहुंचकर लुटेरों से पूछताछ की थी। इसमें मिली जानकारी पर जिला पुलिस व एसटीएफ की टीम लाइनर व गिरोह में शामिल अन्य लुटेरों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी कर रही है। बताया गया कि समस्तीपुर, बेगूसराय व वैशाली में कई जगहों पर छापेमारी के दौरान रविवार को देर रात छह संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। इन सभी को अलग-अलग जगहों पर रखकर पूछताछ की जा रही है। इसके पूर्व दो लाइनर को शनिवार को उठाया गया था। अब इन सभी से पूछताछ में छठे अपराधी राजेश की तलाश चल रही है। वह समस्तीपुर का रहने वाला है। बता दें कि शुक्रवार को बैंक लूट की घटना के बाद एडीजी ऑपरेशन सुशील मान सिंह खोपड़े ने पूरे मामले की मॉनीटरिग की। इसके बाद मिले इनपुट व मोबाइल टावर डंपिंग डिटेल्स के आधार पर कंकड़बाग से लुटेरों को लूट की राशि के साथ दबोचा गया था। जेल भेजे गए लुटेरों में बेगूसराय के नीतीश कुमार, राहुल कुमार, समस्तीपुर के सुधीर शर्मा व राहुल शामिल हैं।

Edited By: Jagran