मुजफ्फरपुर : बेला की नूडल्स फैक्ट्री के बायलर फटने के मामले के आरोपित मैनेजर उदयशंकर की अग्रिम जमानत की अर्जी पर शनिवार को जिला जज मनोज कुमार सिन्हा की कोर्ट में सुनवाई हुई। मैनेजर की ओर से उनके अधिवक्ता प्रियरंजन अनु ने बहस की। उन्होंने कोर्ट के समक्ष उनका पक्ष रखते हुए कहा कि वे उस फैक्ट्री के मैनेजर नहीं थे जिसका बायलर फटा। उन्हें इस बायलर से कोई लेना देना नहीं है। अभियोजन पक्ष की ओर लोक अभियोजक प्रमोद कुमार शाही ने अग्रिम जमानत की अर्जी का जमकर विरोध किया। उन्होंने इसे गंभीर मामला बताते हुए पुलिस से केस डायरी मांगने की प्रार्थना कोर्ट से की। कोर्ट ने उनकी दलील को स्वीकार करते हुए पुलिस से केस डायरी मांगी है और अगली सुनवाई के लिए 18 फरवरी की तिथि निर्धारित की है।

मालिकों की अग्रिम जमानत की अर्जी पर भी 18 फरवरी को होगी सुनवाई : नूडल्स फैक्ट्री के मालिक विकास मोदी व उनकी पत्नी श्वेता मोदी की ओर से भी दाखिल अग्रिम जमानत की अर्जी पर जिला जज के कोर्ट में 11 जनवरी को सुनवाई हुई थी। कोर्ट ने इस अर्जी पर अगली सुनवाई के लिए भी पुलिस से केस डायरी मांगी थी। इन दोनों की अग्रिम जमानत की अर्जी पर अगली सुनवाई के लिए 18 फरवरी की तिथि निर्धारित है। इस तरह अब तीनों की अग्रिम जमानत की अर्जी पर अगली सुनवाई एक दिन ही होगी।

पांच आरोपितों के विरुद्ध कोर्ट से जारी है वारंट : मामले के आइओ व बेला थानाध्यक्ष कुंदन कुमार सिंह की अर्जी पर सुनवाई के बाद 10 जनवरी को न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी आफताब आलम की कोर्ट ने पांच नामजद आरोपितों के विरुद्ध वारंट जारी करने का आदेश दिया था। इसमें नामजद आरोपितों फैक्ट्री मालिक विकास मोदी,उसकी पत्‍‌नी श्वेता मोदी, मैनेजर उदयशंकर, सुपरवाइजर राहुल कुमार व दिग्विजय के नाम शामिल हैं।

यह हुई थी घटना : पिछले साल 26 दिसंबर की सुबह बेला फेज -दो स्थित नूडल्स फैक्ट्री का बायलर फट गया। इसमें नूडल्स फैक्ट्री के पांच व बगल के चुड़ा फैक्ट्री के दो कर्मियों की मौत व एक दर्जन कर्मी घायल हो गए। इसके मलबे से आसपास के क्षेत्रों में व्यापक क्षति हुई। बियाडा के क्षेत्रीय प्रभारी प्रशांत कुमार श्रीवास्तव ने बेला थाना में पांच नामजद आरोपितों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई। इसमें फैक्ट्री मालिक, मैनेजर व सुपरवाइजर शामिल है।

Edited By: Jagran