मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मुजफ्फरपुर, जेएनएन। राज्य में शराबबंदी के बाद दूसरे राज्यों से ही विदेशी शराब नहीं आ रही। बल्कि, मुजफ्फरपुर के पश्चिमी दियारा क्षेत्र व आसपास के जिले में भी नकली विदेशी शराब बनाई जा रही है। उत्पाद एवं मद्यनिषेध विभाग के सूत्रों की मानें तो शराबबंदी के बाद जब्त की गई विदेशी शराब की सांद्रता (वी/वी) अलग-अलग पाई गई। जबकि निबंधित कंपनियों की फैक्ट्री में बनी शराब की सांद्रता में अंतर नहीं होता है। सभी में यह एकसमान (42.8) होती है। लेकिन, जब्त शराब में सांद्रता अलग होने से नकली व मिलावटी शराब बनाई जाने का प्रमाण मिल रहा है। 

स्प्रिट में कलरेंट मिलाकर तैयार की जाती नकली विदेशी शराब

विभाग के आंकड़ों पर गौर करें तो राज्य में पूर्ण शराबबंदी के बाद जिले में अब तक एक लाख 60 हजार 557 लीटर विदेश शराब जब्त की गई है। इसमें आधी से अधिक के नकली होने की आशंका है। क्योंकि जांच में इसकी सांद्रता अलग-अलग मिली। वहीं कई जगहों पर छापेमारी में स्प्रिट के अलावा शराब की बोतल, रैपर, ढक्कन आदि जब्त की गई है। इन चीजों के मिलने से नकली विदेशी शराब बनाए जाने की आशंका को बल मिल रहा है। सूत्रों की मानें तो सौ लीटर स्प्रिट से करीब चार सौ लीटर नकली शराब बनाई जाती है। इसमें कलरेंट (शराब का रंग देने के लिए डाला जानेवाला केमिकल) मिलाया जाता है। साथ ही, दूसरे राज्य में बनी शराब का रैपर लगा दिया जाता। यह रैपर आसानी से बोतल से अलग हो जाता है।

साढ़े नौ हजार छापेमारी, 1397 गिरफ्तारी

शराबबंदी के बाद से जिले में साढ़े नौ हजार से अधिक छापेमारियां की गईं। इसमें 1397 लोगों को गिरफ्तार किया गया। जबकि, शराब पीने वाले 4800 पकड़े गए हैं। ये उदाहरण बता रहे हैं कि जिले में शराब बन व बिक भी रही।

हाल में पकड़ी गई शराब की फैक्ट्री

हाल ही में पश्चिमी क्षेत्र व अहियापुर थाना क्षेत्र में शराब की फैक्ट्री पकड़ी गई है। पारू थाना क्षेत्र में शराब फैक्ट्री का भंडाफोड़ कर भारी मात्रा में शराब बरामद की गई थी। संचालक समेत कई लोग गिरफ्तार किए गए। इसी महीने अहियापुर थाना क्षेत्र के पटियासा इलाके में छापेमारी कर शराब फैक्ट्री पकड़ी गई थी। इसमें भारी मात्रा में शराब, स्प्रिट व कार्क समेत अन्य सामान बरामद किए गए थे।

चांदनी चौक के कबाड़ दुकान से मिला था भारी मात्रा में कार्क व रैपर

इन सभी जगहों पर छापेमारी के बाद आरोपितों के पूछताछ में पता चला कि शराब बनाने के लिए चांदनी चौक के एक कबाड़ दुकान से रैपर, कार्क व बोतल की आपूर्ति की जाती है। सूचना पर पुलिस ने कबाड़ दुकान में छापेमारी कर भारी मात्रा शराब से संबंधित सामान बरामद किया। इस दौरान कबाड़ दुकानदार समेत छह लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। पूछताछ में पता चला कि कोलकाता से सामान लाकर यहां शराब धंधेबाजों के यहां आपूर्ति की जा रही थी।

 इस बारे में एसएसपी मनोज कुमार ने कहा कि शराब धंधेबाजों के विरुद्ध जिला पुलिस व उत्पाद विभाग का संयुक्त अभियान चलाया जा रहा है। भारी मात्रा में शराब की बरामदगी की जा चुकी है। कई धंधेबाजों को जेल भेजा जा चुका है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप