शिवहर, जासं। नवरात्र पर शक्ति की भक्ति के बीच सेहत की सुरक्षा पर भी खास ध्यान दिया जा रहा है। साथ ही कोरोना पर प्रहार की भी पूरी व्यवस्था की गई है। डीएम सज्जन राजशेखर के आदेश पर जहां पूजा पंडालों में कोविड गाइडलाइन का पालन कराने की व्यवस्था की गई है। वही सीएस डॉ. आरपी सिंह के निर्देश के आलोक में जिले के सभी प्रमुख पूजा पंडालों में कोरोना जांच व वैक्सीनेशन की व्यवस्था की गई है। जहां स्वास्थ्यकर्मी आते-जाते लोगों से जानकारी लेकर टीकाकरण व जांच कर रहे है। पूजा पंडालों में प्रवेश के पूर्व ही लोगों को कोरोना जांच और टीकाकरण का प्रमाण देना पड़ रहा है। वैसे लोग जिन्होंने अबतक कोरोना जांच नहीं कराया है या फिर वैक्सीनेशन नहीं कराया है। उनका आन द स्पाट जांच और टीकाकरण किया जा रहा है। 

जिला मुख्यालय शिवहर समेत सभी प्रखंड मुख्यालयों और भीड़भाड़ वाले पूजा पंडालों में स्वास्थ्यकर्मियों की दो-दो टीमें काम कर रही है। एसडीओ मो. इश्तियाक अली अंसारी के नेतृत्व में प्रशासनिक टीम लगातार पूजा पंडालों और कोविड जांच और टीकाकरण केंद्र का जायजा ले रही है। जबकि, सीएस डॉ. आरपी सिंह और डीआईओ डॉ. एके सिन्हा भी इसकी मानीटरिंग कर रहे है। बताते चलें कि, कोरोना संक्रमण पर नकेल और टीकाकरण में शिवहर जिले ने उल्लेखनीय भूमिका अदा की है। साढ़े छह लाख की आबादी वाले शिवहर में 18 पार के 4.48 लाख लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य तय किया गया है। जिले में एक माह से कोरोना का कोई संक्रमित नहीं मिला है। अबतक कुल पांच लाख 56 हजार 972 लोगों का कोरोना जांच हो चुका है। जबकि, दो लाख 90 हजार 311 लोगों को वैक्सीन का पहला और 89 हजार 293 लोगों को दूसरा डोज लग चुका है। जिले में नवरात्र के अवसर पर उमड़ने वाली भीड़ और इसके चलते संक्रमण की फैलाव की आशंका के मद्देनजर डीएम ने पूजा पंडालों में कोरोना जांच और टीकाकरण कराने वाले लोगों के ही प्रवेश की अनुमति दी है। 

Edited By: Ajit Kumar